Insurance Agent कैसे बनें ? योग्यता, काम, सैलरी

Date:

आज आपको इंश्योरेंस एजेंट (Insurance Agent) कैसे बनें (How to become an insurance agent in Hindi । इंश्योरेंस एजेंट कैसे बनते हैं। इंश्योरेंस एजेंट की सैलरी। इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए योग्यता, कार्य, सैलरी पूरी जानकारी। Insurance Agent Kaise Bane।  Insurance Agent Kaise Bante Hai। LIC Insurance Agent Kaise Bane आदि के बारे में विस्तृत जानकारी बताने वाले हैं।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

इंश्योरेंस एजेंट (Insurance Agent) बनकर कुछ लोग अच्छी खासी इनकम कर लेते है क्योंकि यह कमाने का काफी अच्छा और सरल तारिका है। इंश्योरेंस एजेंट (Insurance Agent) का मुख्य काम लोगों के पास जाकर उनका बीमा (Insurance ) करने का होता है। सभी बीमा कंपनियां अपनी आय बढ़ाने के लिए ऐजेंट को जॉब देती हैं ताकि एजेंट पब्लिक के पास जाकर उनको बीमा पॉलिसी के बारे में विस्तृत जानकारी दे जिससे पब्लिक को पॉलिसी के फायदे समझ में आए और वह बीमा करवाने के लिए तैयार हों जाए। ऐसा एजेंट के द्वारा करने से बीमा धारक, एजेंट और बीमा कंपनी तीनों को फायदा होता है। इसमें एजेंट की कमाई कमीशन होती है। 

अगर आप भी एक Insurance Agent बनना चाहते हैं और आप Insurance Agent Kaise Bane यही जानकारी की तलाश में थे तो आज का यह लेख में आपकों इंश्योरेंस एजेंट कैसे बनें से लेकर एक इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए योग्यता क्या होना चाहिए, इंश्योरेंस एजेंट की सैलरी यानि कमाई कितनी और कैसे होती है के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं।

Insurance Agent कौन होता है?

एक बीमा एजेंट एक व्यक्ति होता है जो बीमा कंपनियों द्वारा प्राप्त बीमा उत्पादों और सेवाओं को ग्राहकों तक पहुँचाता है। उनका मुख्य कार्य ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए उपयुक्त बीमा योजनाओं के बारे में सलाह देना और उन्हें बीमा की प्रक्रिया के बारे में समझाना होता है।

बीमा एजेंट बीमा कंपनियों के प्रतिनिधि होते हैं और वे ग्राहकों के बीमा आवश्यकताओं को विश्लेषण करने में मदद करते हैं। वे ग्राहकों को विभिन्न बीमा योजनाओं के बारे में जानकारी देते हैं, पॉलिसी के विशेषताओं को समझाते हैं, प्रीमियम को निर्धारित करते हैं, और निर्वाचित बीमा योजना को ग्राहक के आवश्यकताओं के आधार पर सलाह देते हैं।

बीमा एजेंट अक्सर किसी बीमा कंपनी के अंशकारी कार्यकर्ता के रूप में काम करते हैं और ग्राहकों को बीमा पॉलिसी खरीदने और प्रीमियम भुगतान करने में मदद करते हैं।

Insurance Agent कैसे बने ? | Insurance Agent Kaise Bane

एक बीमा एजेंट एक व्यक्ति होता है जो बीमा उत्पादों और सेवाओं की पेशेवर रूप से प्रमोट करता है और बीमा कंपनियों के लिए नए ग्राहकों को खोजता है। उनका कार्य ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए उपयुक्त बीमा योजनाओं के बारे में सलाह देना और उन्हें बीमा की प्रक्रिया के बारे में समझाना होता है।

बीमा एजेंट बनने के लिए आपको निम्नलिखित कदम चुकने होंगे:

  • शिक्षा – आपको उच्चतम शिक्षा प्राप्त करनी होगी, और इसके बाद किसी भी अपीली बीमा पाठ्यक्रम को पूरा करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • बीमा कंपनी से जुड़ना – एक बीमा कंपनी में नौकरी पाने के लिए आवेदन करें और वहां पर अपने करियर की शुरुआत करें।
  • लाइसेंस प्राप्त करें – बीमा एजेंट बनने के लिए आपको अपने राज्य या देश के नियमों और विधियों के अनुसार बीमा लाइसेंस प्राप्त करना होगा।
  • उपयुक्त प्रशिक्षण – बीमा कंपनी आपको अपने उत्पादों और सेवाओं के बारे में अच्छे से जानकारी प्रदान करेगी, जिससे आप ग्राहकों को सही रूप से सलाह दे सकें।
  • नेटवर्क बनाएं – बीमा एजेंट बनने के बाद, आपको नए ग्राहकों को प्राप्त करने के लिए एक ग्राहक नेटवर्क बनाना होगा।

ध्यान दें कि बीमा कंपनियों के नियम और विधियां विभिन्न हो सकती हैं, इसलिए आपको अपने स्थानीय क्षेत्र की बीमा निगरानी और नियमों को ध्यान में रखना महत्वपूर्ण होगा।

Insurance Agent बनने के लिए योग्यता

Insurance Agent बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

अच्छा, बीमा एजेंट बनने के लिए आपको बच्चों की तरह पढ़ाई करने की कोई खास योग्यता की आवश्यकता नहीं होती! आपकी शैक्षणिक योग्यता केवल स्नातक डिग्री की होनी चाहिए, विशेषत: वित्त, वित्तीय योजनाएँ, या किसी आपके रुचि क्षेत्र से जुड़ी हो।

इसके अलावा, आपको अपने स्थानीय और राष्ट्रीय बीमा नियमों के आधार पर एक बीमा लाइसेंस प्राप्त करना होगा। बीमा कंपनियाँ आपको अपने उत्पादों और प्रक्रिया के बारे में प्रशिक्षित करेंगी, ताकि आप ग्राहकों को बेहतर समझा सकें और सही बीमा योजनाओं की सलाह दे सकें।

बीमा एजेंट बनने के लिए आपके पास अच्छे संवादना कौशल, समझदारी, और समर्पण की आवश्यकता होती है, ताकि आप ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए सही सलाह और बीमा योजनाओं के बारे में समझा सकें।

याद रखें, बीमा कंपनियों के नियम और विधियाँ विभिन्न हो सकती हैं, इसलिए आपको अपने स्थानीय क्षेत्र के बीमा निगरानी के साथ मिलकर काम करना होगा और उनके निर्देशों का पालन करना होगा।

Related…. क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान – Credit Card Ke Fayde Aur Nuksan

Insurance Agent बनने के लिए आयु सीमा

बीमा एजेंट बनने के लिए आयु सीमा आमतौर पर कोई निश्चित नहीं होती, यानी कि किसी विशेष आयु की आवश्यकता नहीं होती। यह कैरियर किसी भी आयु में शुरू किया जा सकता है, चाहे आप युवा हों या अधिक उम्र के।

बीमा एजेंट बनने के लिए अधिक महत्वपूर्ण होता है कि आपके पास अच्छे संवादना कौशल, समझदारी, और ग्राहकों के साथ सही बीमा योजनाओं के बारे में जानकारी हो। यही आपकी सफलता की कुंजी होती है, और आप ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए मदद कर सकते हैं, चाहे आपकी आयु कुछ भी हो।

तो, आपके पास जानकारी और पेशेवरता होती है, तो आप इस करियर में सफलता प्राप्त कर सकते हैं, और आपकी आयु किसी भी आयु समूह के लिए कोई बाधक नहीं होती।

Insurance Agent के कार्य

इंश्योरेंस एजेंट के अलग-अलग पॉलिसी के हिसाब से एक कार्य होता है लेकिन उनको अलग अलग कोने किसी के हिसाब से अलग-अलग लोगों को उनके बारे में बताना होता है और उनको पॉलिसी करना होता है।

बीमा एजेंट के काम कई महत्वपूर्ण और मानविक कार्यों को सम्मिलित करते हैं, यहां दस मुख्य कार्य हैं:

ग्राहक सलाह — वे ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए सही बीमा योजनाओं की सलाह देते हैं।

बीमा पॉलिसी खोज — बीमा एजेंट ग्राहकों की आर्थिक आवश्यकताओं के आधार पर सबसे उपयुक्त बीमा योजना की खोज करते हैं।

पॉलिसी प्रबंधन — वे ग्राहकों की पॉलिसी को प्रबंधित करते हैं, प्रीमियम भुगतान के लिए मदद करते हैं, और उनके साथ रूबरू होते हैं।

दावे की प्रक्रिया — जब ग्राहक को नुकसान होता है, तो बीमा एजेंट उनके दावे की प्रक्रिया में मदद करते हैं।

बीमा जागरूकता — वे ग्राहकों को बीमा के महत्व और विभिन्न बीमा योजनाओं के बारे में जागरूक करते हैं।

आर्थिक सलाह — बीमा एजेंट ग्राहकों को उनके वित्तीय लक्ष्यों के साथ संवाद करते हैं और उन्हें बीमा के माध्यम से कैसे पहुंचा जा सकता है इसके बारे में सलाह देते हैं।

बीमा क्लेम्स की निगरानी — वे दावे की प्रक्रिया को मॉनिटर करते हैं और बीमा कंपनी और ग्राहक के बीच की विवादों को समाधान करने में मदद करते हैं।

पॉलिसी अद्यतन — बीमा एजेंट ग्राहकों की बदलती आवश्यकताओं के आधार पर पॉलिसी को अद्यतन करते हैं।

अनुभव और सलाह — वे अपने ग्राहकों को विभिन्न बीमा योजनाओं के बारे में ज्ञान प्रदान करते हैं और सही प्रकार से समझाते हैं।

ग्राहक संबंध बनाना — बीमा एजेंट ग्राहकों के साथ भरपूर संबंध बनाते हैं और उनके आर्थिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हैं।

बीमा एजेंट ग्राहकों के लिए आर्थिक सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए ये कार्य बहुत महत्वपूर्ण होते हैं और इस तरह से वे समाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Related …. IRS Officer Kaise Bane | How to become an IRS Officer in Hindi

Insurance एजेंट के लाभ

जब आप एक इंश्योरेंस एजेंट बन जाते हैं तो आपको इस फील्ड में बहुत सारे फायदे मिलते हैं।

इंश्योरेंस एजेंट के कई लाभ होते हैं, जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं —

  1. आर्थिक संवर्द्धन — एक इंश्योरेंस एजेंट का काम ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए सही बीमा योजनाओं की सलाह देने में मदद करता है, जिससे उन्हें आर्थिक संकट से बचाव मिलता है।
  2. करियर विकास — इंश्योरेंस एजेंट अपने करियर में विकास कर सकते हैं और अपने आपको एक अच्छे वित्तीय सलाहकार के रूप में स्थापित कर सकते हैं।
  3. स्वतंत्रता — बीमा एजेंट अक्सर अपने समय का स्वतंत्र रूप से प्रबंध कर सकते हैं और अपने व्यवसाय की जिम्मेदारी ले सकते हैं।
  4. कमीशन और इनसेंटिव्स — इंश्योरेंस एजेंट अच्छी बिक्री करते हैं, तो उन्हें कमीशन और इनसेंटिव्स की जाती है, जिससे उनकी आय बढ़ सकती है।
  5. सामाजिक महत्व — इंश्योरेंस एजेंट ग्राहकों के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और समाज में सामाजिक मान्यता प्राप्त करते हैं, क्योंकि वे लोगों की आर्थिक सुरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।
  6. वित्तीय स्वतंत्रता — इंश्योरेंस एजेंट अपने व्यवसाय के माध्यम से वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त कर सकते हैं और अपनी आय को स्वाधीनता से प्रबंध कर सकते हैं।
  7. सामाजिक सेवा — इंश्योरेंस एजेंट ग्राहकों की जरूरतों को समझते हैं और उनकी सामाजिक सेवा करने में मदद करते हैं, जैसे कि उनके मेडिकल बीमा योजनाओं का समर्थन करना।
  8. अधिक ज्ञान — इंश्योरेंस एजेंट अपने काम के माध्यम से बीमा और वित्तीय योजनाओं के बारे में अधिक ज्ञान प्राप्त करते हैं, जो उनके व्यक्तिगत वित्तीय जीवन में भी मदद कर सकता है।
  9. ग्राहक संबंध और नेटवर्किंग — इंश्योरेंस एजेंट अपने ग्राहक संबंध बनाते हैं और एक बड़े ग्राहक नेटवर्क का संचयन करते हैं, जिससे वे अधिक व्यवसाय प्राप्त कर सकते हैं।
  10. सामरिक और अन्य लाभ — बीमा कंपनियों अकसर इंश्योरेंस एजेंट को सामरिक और अन्य लाभ होते हैं।

Related … पटवारी कैसे बनें? – Patwari Kaise Bane (भर्ती प्रक्रिया, सैलरी, योग्यता)

इंश्योरेंस एजेंट की सैलरी (कमाई)

इंश्योरेंस एजेंट की सैलरी विभिन्न कारणों पर निर्भर करती है, और यह बीमा कंपनी, क्षेत्र, अनुभव, और बीमा पॉलिसी के प्रकार पर आधारित हो सकती है। यह एक फैक्टर और कमीशन के रूप में प्राप्त आय के रूप में दिखाई जा सकती है।

  • कमीशन — बीमा एजेंट अक्सर अपनी सैलरी की बजाय कमीशन के रूप में पैसे कमाते हैं। वे उन बीमा पॉलिसियों को बेचते हैं और उनकी प्रीमियम पर कमीशन प्राप्त करते हैं, जो उनके बेचे गए पॉलिसियों पर आधारित होता है। कमीशन की मात्रा पॉलिसी के प्रकार और प्रीमियम की मात्रा पर निर्भर करती है।
  • सैलरी — कुछ बीमा कंपनियां अपने एजेंट्स को नियमित सैलरी प्रदान करती हैं, जिसमें उनकी मासिक या सालाना सैलरी शामिल होती है। इसकी मात्रा कंपनी के नियमों और एजेंट की कामकाजी प्रदर्शन पर निर्भर करेगी। बीमा एजेंट की सैलरी कभी भी फिक्स नहीं होती है मान लीजिए काम से कम बीमा एजेंट की सैलरी 5 से ₹10000 से लेकर ₹100000 महीने तक भी हो सकती है।
  • बोनस और इनसेंटिव्स — कुछ कंपनियां अपने एजेंट्स को बोनस और इनसेंटिव्स भी प्रदान करती हैं, जो अच्छे प्रदर्शन पर आधारित होते हैं। ये बोनस और इनसेंटिव्स बढ़ सकते हैं उनकी कुल कमाई को।
  • क्षेत्र — बीमा एजेंट के काम का क्षेत्र भी सैलरी परिभाषित कर सकता है। ज्यादा व्यापारिक और शहरी क्षेत्रों में सैलरी सामान्यता से अधिक होती है क्योंकि वहां बीमा वितरण की अधिक संभावना होती है।
  • अनुभव — अनुभवी बीमा एजेंट्स कमीशन और सैलरी में वृद्धि प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि उनके पास अधिक ग्राहकों का बड़ा नेटवर्क होता है और उनकी बीमा योजनाओं की अधिक जानकारी होती है।

कृपया ध्यान दें कि सैलरी और कमीशन की मात्रा बीमा एजेंट के प्रदर्शन, कंपनी के नियमों, और बीमा पॉलिसी के प्रकार पर निर्भर करती है, और यह विभिन्न हो सकती है।

Related… सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? कार्य, भर्ती प्रक्रिया, योग्यता- Software Engineer Kaise Bane

इंश्योरेंस के प्रकार (Types of Insurance)

वैसे इंश्योरेंस मुक्त तौर पर दो प्रकार के होते हैं पहला Life insurance और दूसरा General insurance बीमा। लाइफ इंश्योरेंस और जनरल इंश्योरेंस बीमा के अंदर बहुत सारे बीमा आते हैं जो कि निम्न अनुसार है –

बीमा के कई प्रकार होते हैं, जिनमें निम्नलिखित हैं शामिल है एच३

  • जीवन बीमा (Life Insurance) — इस प्रकार की बीमा योजनाएँ व्यक्ति की मौके पर या उनकी मृत्यु पर वित्तीय संरक्षा प्रदान करती हैं। जीवन बीमा योजनाएँ मृत्यु लाभ और जीवन बचाओ योजनाओं में आती हैं।
  • स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance) — इस प्रकार की बीमा योजनाएँ व्यक्तिगत या परिवार की स्वास्थ्य सेवाओं के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती हैं, जैसे कि चिकित्सा खर्चों का भुगतान, अस्पताल और चिकित्सक की फीस, और दवाओं का खर्च।
  • मोटर वाहन बीमा (Motor Insurance) — यह बीमा योजनाएँ वाहनों को दुर्घटना, चोरी या हानि के खतरों से सुरक्षित रखने के लिए होती हैं। इसमें वाहन बीमा और वाहन चोरी बीमा शामिल होती हैं।
  • गृह बीमा (Home Insurance) — इस प्रकार की बीमा योजनाएँ घर, गृह सामग्री, और गृह के खतरों से सुरक्षित रखने के लिए होती हैं, जैसे कि आग, भूकंप, चोरी, या अन्य हानि।
  • व्यापारिक बीमा (Commercial Insurance) — यह बीमा व्यापारिक कार्यों और व्यवसायों की सुरक्षा के लिए होती है, जैसे कि व्यवसायिक संपत्ति बीमा, व्यवसायी जिम्मेदारी बीमा, और व्यापारिक जीवन बीमा।
  • अक्सीडेंट और विकलांगता बीमा (Accident and Disability Insurance) — यह बीमा योजनाएँ व्यक्ति को अक्सीडेंट के चलते होने वाले चोट, विकलांगता या मौके पर मौके की मृत्यु के खिलाफ सुरक्षित करती हैं।
  • कृषि बीमा (Crop Insurance) — इस प्रकार की बीमा किसानों को अपनी फसलों के खतरों से सुरक्षित रखने के लिए होती है, जैसे कि प्राकृतिक आपदा आदि।

Related… गूगल से पैसे कैसे कमाए? How to Earn Money from Google in Hindi

FAQ,s

इंश्योरेंस एजेंट कैसे बनते हैं?

एक बीमा एजेंट एक व्यक्ति होता है जो बीमा उत्पादों और सेवाओं की पेशेवर रूप से प्रमोट करता है और बीमा कंपनियों के लिए नए ग्राहकों को खोजता है। उनका कार्य ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए उपयुक्त बीमा योजनाओं के बारे में सलाह देना और उन्हें बीमा की प्रक्रिया के बारे में समझाना होता है।
बीमा एजेंट बनने के लिए आपको निम्नलिखित कदम चुकने होंगे:

शिक्षा – आपको उच्चतम शिक्षा प्राप्त करनी होगी, और इसके बाद किसी भी अपीली बीमा पाठ्यक्रम को पूरा करने की आवश्यकता हो सकती है।
बीमा कंपनी से जुड़ना – एक बीमा कंपनी में नौकरी पाने के लिए आवेदन करें और वहां पर अपने करियर की शुरुआत करें।
लाइसेंस प्राप्त करें – बीमा एजेंट बनने के लिए आपको अपने राज्य या देश के नियमों और विधियों के अनुसार बीमा लाइसेंस प्राप्त करना होगा।
उपयुक्त प्रशिक्षण – बीमा कंपनी आपको अपने उत्पादों और सेवाओं के बारे में अच्छे से जानकारी प्रदान करेगी, जिससे आप ग्राहकों को सही रूप से सलाह दे सकें।
नेटवर्क बनाएं – बीमा एजेंट बनने के बाद, आपको नए ग्राहकों को प्राप्त करने के लिए एक ग्राहक नेटवर्क बनाना होगा।

इंश्योरेंस एजेंट का काम क्या होता है?

ग्राहक सलाह — वे ग्राहकों को उनकी आर्थिक सुरक्षा के लिए सही बीमा योजनाओं की सलाह देते हैं।
बीमा पॉलिसी खोज — बीमा एजेंट ग्राहकों की आर्थिक आवश्यकताओं के आधार पर सबसे उपयुक्त बीमा योजना की खोज करते हैं।
पॉलिसी प्रबंधन — वे ग्राहकों की पॉलिसी को प्रबंधित करते हैं, प्रीमियम भुगतान के लिए मदद करते हैं, और उनके साथ रूबरू होते हैं।
दावे की प्रक्रिया — जब ग्राहक को नुकसान होता है, तो बीमा एजेंट उनके दावे की प्रक्रिया में मदद करते हैं।
बीमा जागरूकता — वे ग्राहकों को बीमा के महत्व और विभिन्न बीमा योजनाओं के बारे में जागरूक करते हैं।
आर्थिक सलाह — बीमा एजेंट ग्राहकों को उनके वित्तीय लक्ष्यों के साथ संवाद करते हैं और उन्हें बीमा के माध्यम से कैसे पहुंचा जा सकता है इसके बारे में सलाह देते हैं।
बीमा क्लेम्स की निगरानी — वे दावे की प्रक्रिया को मॉनिटर करते हैं और बीमा कंपनी और ग्राहक के बीच की विवादों को समाधान करने में मदद करते हैं।
पॉलिसी अद्यतन — बीमा एजेंट ग्राहकों की बदलती आवश्यकताओं के आधार पर पॉलिसी को अद्यतन करते हैं।
अनुभव और सलाह — वे अपने ग्राहकों को विभिन्न बीमा योजनाओं के बारे में ज्ञान प्रदान करते हैं और सही प्रकार से समझाते हैं।
ग्राहक संबंध बनाना — बीमा एजेंट ग्राहकों के साथ भरपूर संबंध बनाते हैं और उनके आर्थिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हैं।

बीमा एजेंट की योग्यता क्या है?

शैक्षिक योग्यता कंपनी के नियमों के आधार पर भिन्न हो सकती है, लेकिन आमतौर पर 12वीं पास होना जरूरी होता है।

इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए कितनी आयु होनी चाहिए?

आयु सीमा भी कंपनी के नियमों पर निर्भर कर सकती है, लेकिन आमतौर पर 18 से 65 साल के बीच होनी चाहिए। वैसे कोई फिक्स भी नही है।

इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए कैसे आवेदन करें?

आपको किसी बीमा कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।

इंश्योरेंस एजेंट की सैलरी कितनी होती है?

सैलरी — कुछ बीमा कंपनियां अपने एजेंट्स को नियमित सैलरी प्रदान करती हैं, जिसमें उनकी मासिक या सालाना सैलरी शामिल होती है। इसकी मात्रा कंपनी के नियमों और एजेंट की कामकाजी प्रदर्शन पर निर्भर करेगी। बीमा एजेंट की सैलरी कभी भी फिक्स नहीं होती है मान लीजिए काम से कम बीमा एजेंट की सैलरी 5 से ₹10000 से लेकर ₹100000 महीने तक भी हो सकती है।

Related ….

Conclusion –

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको आज का लेख इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने या इंश्योरेंस एजेंट कैसे बनते हैं और इसमें कितनी सैलरी रहती है एवं योग्यता कितनी चाहिए एक इंश्योरेंस एजेंट बनने के लिए अगर आप भी एक इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं तो आपको इंश्योरेंस एजेंट के काम भी हमने इसमें बताएं कि इंश्योरेंस एजेंट के क्या काम होते हैं और साथ ही हमने सैलरी भी बताई है ताकि आपको इंश्योरेंस एजेंट से संबंधित सभी जानकारी एक ही आर्टिकल से मिल सके।

अगर आपने सोच लिया कि अब आप एक इंश्योरेंस एजेंट बनने वाले है तो आपको यह आर्टिकल अपने दोस्तों को भी शेयर करना चाहिए जो इंश्योरेंस एजेंट बनना चाहते हैं ताकि उनको भी पता चले कि इंश्योरेंस एजेंट कैसे बने।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...