बायोटेक्नोलॉजी क्या है? What is Bio Technology in Hindi

Date:

मेडिकल के फील्ड में एक अच्छे करियर की चाह में बहुत सारे स्टूडेंट्स आज बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम (Biotechnology course) करना चाहते हैं। इस कोर्स की तरफ मुख्यता वही लोग दिलचस्पी दिखाते हैं जो इंजीनियरिंग कोर्स में दाखिला या प्रवेश लेना चाहते है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

आइए इस आर्टिकल में जानते हैं कि “बायोटेक्नोलॉजी कोर्स क्या है” और “इस कोर्स को करने हेतु जरूरी योग्यता, शुल्क और करियर।” की पर्याप्त इनफॉर्मेशन प्राप्त करते है।

Table of Contents

बायोटेक्नोलॉजी क्या है? Bio Technology in Hindi

बायो टेक्नोलॉजी को बायोटेक(Biotech) के नाम से भी जानते है और बायोटेक्नोलॉजी को हिंदी भाषा में जैव प्रौद्योगिकी बोला जाता है। बायो टेक्नोलॉजी एक तरह का पाठ्यक्रम होता है जिसमें टेक्नोलॉजी और जैविकता के कॉम्बिनेशन से स्वास्थ्य से जुड़े ऐसे प्रोडक्ट को डिवेलप किया जाता है जो इंसानों के काम आ सके।

आपको बता दें हंगरी देश के एग्रीकल्चर इंजीनियर कार्ल एरेक्य (Karl Arekta) के जरिए वर्ष 1919 में प्रथम बार बायोटेक्नोलॉजी शब्द का इस्तेमाल किया गया था।

सबसे अधिक बायोटेक्नोलॉजी का उपयोग कृषि के फील्ड में देखा जाता है क्योंकि फार्मिंग के अंतर्गत किसानों को नए नए खाद पदार्थ की जरूरत पड़ती रहती है।

ऐसे में बायोटेक्नोलॉजी के अंतर्गत नई और तरह तरह की चीजों पर रिसर्च और एक्सपेरिमेंट होती है और किसानों के लिए जरूरतमंद बीज, खाद्य को लॉन्च किया जाता है, जिसका उपयोग करके किसान प्रचुर पैदावार प्राप्त करते हैं।

हालांकि केवल खेती ही नहीं बायोटेक्नोलॉजी का योगदान एनवायरनमेंट, बिजनेस, मेडिकल, स्वास्थ, पशुपालन जैसी क्षेत्र में भी है।

हमारे देश में उपलब्ध ज्यादातर कॉलेज एवम् यूनिवर्सिटी के माध्यम उपलब्ध के लिए बायो टेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम ऑफर किया जाता है। स्टूडेंट्स चाहे तो बीएससी (BSc) से बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स कर सकते हैं।

या फिर बी टेक (B Tech) अथवा बैचलर ऑफ इलेक्ट्रॉनिक( Bachelor of Electronic) से भी बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स किया जा सकता हैं और उसके पश्चात बायोटेक्नोलॉजी के फील्ड में बताए इंजीनियर अपना कार्य कर सकते है।

बायो टेक्नोलॉजी इंजीनियर का मुख्य कार्य Work of Biotechnology Engineer

बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर को बायोटेक्नोलॉजिस्ट (Biotechnologist) भी कहा जाता है। जो स्टूडेंट्स बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियर बन जाते हैं वह ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल पर किए गए स्पेशलाइजेशन और अपने दिलचस्पी के अनुसार अलग अलग फील्ड जैसे कि एग्रीकल्चर, मेडिसिन,एनिमल हसबेंडरी, कन्जर्वेशन,जेनेटिक इंजीनियरिंग,एनवायरनमेंट, हेल्थकेयर और रिसर्च एंड डेवलपमेंट से जुड़े कार्यों को करते हैं।

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स हेतु योग्यता | Eligibility Criteria For Bio Technology Course

बायोटेक्नोलॉजी के पाठ्यक्रम में एडमिशन प्राप्त करने के लिए स्टूडेंट्स को कुछ एलिजिबिलिटी को पूर्ण करना होता है तभी वह इस पाठ्यक्रम में दाखिला प्राप्त करने के लिए एलिजिबल होते हैं। नीचे बायोटेक्नोलॉजी के लिए कौन सी एलिजिबिलिटी आपके अंदर मौजूद होनी चाहिए, इसकी जानकारी दी गई है।

  • जो स्टूडेंट्स बायोटेक्नोलॉजी में डिप्लोमा (Diploma) कोर्स करना चाहते हैं उन्हें हाई स्कूल बोर्ड की परीक्षा को साइंस संकाय के साथ उत्तीर्ण करना आवश्यक है।
  • बायोटेक्नोलॉजी में ग्रेजुएट डिग्री पाने हेतु स्टूडेंट्स का इंटरमीडिएट क्लास को साइंस संकाय के साथ उत्तीर्ण करना आवश्यक है।
  • ऐसे स्टूडेंट्स जो बायोटेक्नोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें बायोलॉजी (Biology) में बैचलर की डिग्री प्राप्त करनी होगी अथवा बायोलॉजी से जुड़े किसी ब्रांच की डिग्री उनके पास होनी चाहिए।
  • बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम में एडमिशन पाने के लिए विद्यार्थियों को CUET, DUET,,IIT-JAM,JMIEE, AIIMS जैसी एंट्रेंस एग्जाम को भी क्लियर करना आवश्यक है।

बायो टेक्नोलॉजी की शाखा | Branches of Biotechnology Course

कुल मिलाकर 4 प्रकार की ब्रांचेस बायोटेक्नोलॉजी की होती है जो नीचे बताए अनुसार है।

• ग्रीन बायो टेक्नोलॉजी: खेती के उद्देश्य हेतु।

• वाइट बायो टेक्नोलॉजी: इंडस्ट्रियल एप्लीकेशन हेतु।

• ब्लू बायोटेक्नोलॉजी: एक्वेटिक और मरीन एप्लीकेशन के लिए।

• रेड बायोटेक्नोलॉजी: मेडिकल उद्देश्य के लिए।

Related – System Software क्या होता है, काम कैसे करता है एवं इसके प्रकार

बायो टेक्नोलॉजी से संबंधित कोर्स | Courses Related to Bio Technology

चूंकि बायोटेक्नोलॉजी एक विशाल क्षेत्र है आइए आज हम आपको यह बताने वाले हैं कि बायोटेक्नोलॉजी से जुड़े कौन कौन से पाठ्यक्रम होते हैं।

डिप्लोमा कोर्स

दसवीं या हाईस्कूल कक्षा को साइंस के संकाय के साथ उत्तीर्ण करने के पश्चात जो स्टूडेंट्स बायोटेक्नोलॉजी का कोर्स करने के अभिलाषी हैं वह बायोटेक्नोलॉजी के डिप्लोमा के पाठ्यक्रम में एडमिशन पाने का प्रयत्न कर सकते हैं। इस पाठ्यक्रम को करने के लिए स्टूडेंट्स की कम से कम आयु 17 साल होनी चाहिए। बायटेक्नोलॉजी इन डिप्लोमा का यह पाठ्यक्रम 3 वर्ष की समय सीमा का होता है।

बैचलर डिग्री कोर्सेज

12वीं या इंटरमीडिएट क्लास को साइंस के संकाय के साथ जिन विद्यार्थियों ने उत्तीर्ण कर लिया है और वह आगे बायोटेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम करने में रुचि रखते हैं, तो वह बायोटेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम करने के लिए बैचलर डिग्री कार्यक्रम में एडमिशन ले सकते हैं। इसके लिए स्टूडेंट चाहे तो बीएससी,बैचलर ऑफ इलेक्ट्रॉनिक या बी टेक का कोर्स चुन सकते हैं।

यदि स्टूडेंट के द्वारा बैचलर ऑफ साइंस के पाठ्यक्रम में एडमिशन लिया जाता है तो उनको 3 साल तक पढ़ाई करनी होगी और यदि स्टूडेंट के द्वारा बैचलर ऑफ इलेक्ट्रिकल या फिर बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी के पाठ्यक्रम में दाखिला या एडमिशन लिया जाता है तो उसे 4 साल तक पढ़ाई करनी होगी। याद रखें कि 12th साइंस संकाय में आपके पास बायोलॉजी का विषय जरूर होना चाहिए।

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज

पोस्ट ग्रेजुएशन को मास्टर डिग्री भी बोला जाता है। यदि आप बायोटेक्नोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएशन करने के इच्छुक हैं तो इसके लिए आपको बायो टेक्नोलॉजी से जुड़े किसी भी शाखा से ग्रेजुएशन या बैचलर की डिग्री हासिल करना महत्वपूर्ण है। इसके बाद आप मास्टर ऑफ साइंस, मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी या बायोटेक्नोलॉजी से जुड़े दूसरे पोस्ट ग्रेजुएशन पाठ्यक्रम में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। मास्टर डिग्री पूर्ण करने में कम से कम 2 साल का समय सीमा विद्यार्थियों को लगेगा।

पीएचडी कोर्स

किसी स्टूडेंट्स के द्वारा जब बायोटेक्नोलॉजी में पीएचडी का कोर्स पूर्ण कर लिया जाता है तो उसके नाम के आगे डॉक्टर लगने लग जाता है। PhD के पाठ्यक्रम को डॉक्टरल प्रोग्राम भी बोला जाता है। इस पाठ्यक्रम को करने के लिए आपके पास पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री होनी जरूरी है। पीएचडी इन बायोटेक्नोलॉजी के पाठ्यक्रम को आप 3 से 4 साल में पूर्ण कर सकते हैं।

Related – टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Technology in Hindi

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स के बाद सैलरी | Salary After Biotechnology Course

यह कोर्स को पूर्ण करने के पश्चात आप को कितनी वेतन किसी पोस्ट पर मिलेगी यह निर्भर करता है कि आपने किस डिग्री को प्राप्त किया है और आपको काम का कितना तजुर्बा है। यदि अनुमान के तौर पर बोला जाए तो शुरुआती में आपको 25000 रुपए से लेकर 27000 रुपए तक की सैलरी प्राप्त हो सकती है।

यदि आपने बेहतरीन कंपनी में ज्वाइन किया है तो आपकी शुरुआती सैलेरी ही ₹35000 से लेकर के ₹40000 के करीब में हो सकती है। कंपनी के हिसाब से भी वेतन पर असर पड़ता है। यदि आपकी जॉब गवर्नमेंट सेक्टर में लगती है तो शुरुआत में ही आपकी सैलरी ₹45000 से लेकर के ₹48000 के करीब में होगी जो पे कमीशन लागू होते होते बढ़ेगी ही।

बायो टेक्नोलॉजी कोर्स के बाद नौकरी की संभावनाएं |  Job Opportunities After Bio Technology Course

बायोटेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम पूर्ण करने के पश्चात आपके सामने जॉब करने के लिए तमाम तरह के विकल्प उपलब्ध होते हैं, जिसमें से किसी भी क्षेत्र में आप जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। नीचे आपके लिए कुछ ऐसे क्षेत्र के नाम हमने दिए हैं जिसमे बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम पासआउट लोगों की मांग होती है।

•  एनिमल हसबेंडरी 

•  आईटी कंपनी 

•  सॉइल बायोलॉजी 

•  टैक्सटाइल इंडस्ट्री 

•  रिसर्च लैबोरेट्री 

•  मेडिसिन 

•  फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री 

•  फार्मास्यूटिकल 

•  एनवायरमेंटल कंजर्वेशन

•  हेल्थ केयर 

•  कॉस्मेटिक 

•  इकोलॉजी 

•  एग्रीकल्चर

•  जेनेटिक इंजीनियरिंग 

•  हेल्थ केयर सेंटर 

बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम के पश्चात नौकरी के पोस्ट ऊपर आपको हमने बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम के पश्चात जॉब के सेक्टर के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है। अब हम आपको नीचे उन पोस्ट के नाम बता रहे हैं जिन्हें आप बायोटेक्नोलॉजी पाठयक्रम करने के पश्चात प्राप्त कर सकते हैं अथवा जिन पदों पर आप जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

• माइक्रो बायोलॉजिस्ट 

• बायोमेडिकल इंजीनियर 

• मेडिकल साइंटिस्ट 

• एपिडेमियोलॉजिस्ट 

• बायो केमिस्ट्री

• R &D एंड प्रोसेस डेवलपमेंट साइंटिस्ट 

• बायो प्रोडक्शन ऑपरेटर 

• बायोलॉजिकल टेक्निशियन 

• मेडिकल एंड क्लीनिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट एंड   टेक्नीशियन

• बायोमैन्युफैक्चरिंग स्पेशलिस्ट 

Related – ट्रेन का इंजन कितने सीसी का होता है?

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स हेतु एंट्रेंस एग्जाम | Entrance exam for Biotechnology Course

आप यदि बेहतर कॉलेज से बायोटेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा के विषय में मालूम होना चाहिए, क्योंकि यदि आप एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाने में सफल हो जाते हैं तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज मिलने की संभावना बहुत अधिक प्रबल हो जाती है

•  CUET.

•  DUET.

•  JMIEE.

•  IIT-JAM.

•  AIIMS.

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स हेतु बेस्ट कॉलेज | Best colleges for Biotechnology Course

आप अपने सिटी में उपलब्ध कॉलेज से भी बायो टेक्नोलॉजी का पाठ्यक्रम कर सकते हैं परंतु आप भारत में मौजूद बेस्ट कॉलेज से बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम को करना चाहते हैं तो नीचे देखिए भारत के उन कॉलेज की लिस्ट जो बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम करने के लिए बेस्ट कॉलेज माने जाते हैं।

•  बिरला इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी 

•  जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली 

•  क्रिस्ट यूनिवर्सिटी, बेंगलुरू 

•  लोयला कॉलेज, मुंबई 

•  माउंट कार्मल कॉलेज, बेंगलुरु 

•  जेएसएस अकैडमी आफ हायर स्टडीज एंड रिसर्च, मैसूर

•  नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, वारंगल 

•  सेंट जेवियर कॉलेज, कोलकाता 

•  वनस्थली विद्यापीठ, जयपुर 

•  फर्ग्युसन कॉलेज, पुणे 

Related – Robot Kya Hai और Kaise Kam Karta Hai?

बायो टेक्नोलॉजी कोर्स का स्कोप | Future scope in Bio Technology Course

बायोटेक्नोलॉजी में फार्मास्यूटिकल एजुकेशन,एग्रीकल्चर,हेल्थ केयर,फूड मैन्युफैक्चरिंग और रिसर्च जैसे कई क्षेत्र भी शामिल है। इसलिए आज के टाइम में इसने भारत में काफी आवश्यक जगह बना ली है। बायो टेक्नोलॉजी के योगदान को किसी भी तरह से कम नहीं आंका जा सकता है।

चाहे वह बायोपेस्टिसाइड में हो या फिर बायो फर्टिलाइजर अथवा ग्रीन रिवॉल्यूशन या फिर इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में हो। बायो टेक्नोलॉजी के कारण से भारत के युवा लोगों को एंप्लॉयमेंट के बहुत सारे अवसर प्राप्त हो रहे हैं।

बायोटेक्नोलॉजी के अंतर्गत नौजवान लोगों को रोजगार के कई अवसर प्राप्त हो रहे हैं। बायो टेक्नोलॉजी के अंतर्गत नौजवान वर्ग मेडिकल राइटिंग,एनिमल हसबेंडरी, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, फार्मास्यूटिकल कंपनी, आईटी कंपनी, हेल्थ केयर सेंटर, एग्रीकल्चर सेक्टर,फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री, कजेनेटिक इंजीनियरिंग, रिसर्च लैबोरेट्री में अपना करियर सेट कर सकते हैं।

बायोटेक्नोलॉजी के तहत सब-स्पेशलाइजेशन कोर्स | Sub specialization courses in Biotechnology

किसी स्टूडेंट्स के द्वारा जब बायोटेक्नोलॉजी कार्यक्रम किया जाता है तो वह नीचे दिए गए किसी एक स्पेशलाइजेशन पाठ्यक्रम का भी चुनाव कर सकता है। नीचे दिए हुए स्पेशलाइजेशन पाठ्यक्रम को ग्रेजुएट या फिर पोस्ट ग्रैजुएट स्तर पर संपन्न कर सकते हैं।

फार्माकोलॉजी

जो विद्यार्थी फार्माकोलॉजी का अध्यन करते हैं वह कम लागत पर ड्रग तैयार करने के मैथड और इंसानों और जानवरों के टिश्यू एवं सेल फंक्शन पर प्रिपेयर किए गए ड्रग के प्रभाव का वैल्यूएबल करना सीखते है।

जेनेटिक्स

ऐसे स्टूडेंट्स जिन्हें सेल बायोलॉजी (Cell Biology) या फिर जेनेटिक्स बायोलॉजी (Genetics Biology) में रुचि है वह इस पाठ्यक्रम का चुनाव कर सकते हैं। इस पाठ्यक्रम में उन्हें विभिन्न, थेरेपी, थेरापियूटिक्स और मेडिकल डायग्नोस्टिक के विषय में पढ़ाया जाएगा।

वीरोलॉजी

बायोलॉजी के फोर्थ सेमेस्टर मे साधारण तौर पर इस विषय का अध्ययन करवाया जाता है। इसके अंतर्गत स्टूडेंट्स को मॉलिक्यूलर (Molecular) वीरोलॉजी के फंडामेंटल और एप्लीकेशन के विषय में समझने में मदद प्राप्त होती है।

इम्युनोलॉजी

इस पाठ्यक्रम में विद्यार्थियों को यह बताया जाता है कि इंसानों का इम्यून सिस्टम(Immune System) कैसे कार्य करता है ताकि इंसानों के प्रतिरक्षा तंत्र को टेक्नोलॉजी की मदद से कमजोर होने से बचाया जा सके।

बायो-स्टेटिस्टिक्स

इसके माध्यम से रिसर्चर के द्वारा किए जाने वाल विभिन्न एक्सपेरिमेंट में स्टेटिस्टिक्स और मैथ्स के कांसेप्ट को अप्लाई किया जा सकता है।

मॉलिक्यूलर बायोलॉजी

इसमें स्टूडेंट्स को ह्यूमन और एनिमल हेल्थ, पर्यावरण और एग्रीकल्चर के क्षेत्र में न्यूक्लिक एसिड (Nucleic Acid) और प्रोटीन (Protein) की एप्लीकेशन की बारीकियों को समझते हैं। जिन स्टूडेंट्स के द्वारा इस पाठ्यक्रम को किया जाता है वह अपने नॉलेज का उपयोग ड्रग, थेरेपी और डायग्नोस्टिक टेस्ट प्रिपेयर करने के लिए कर सकते हैं।

Related – डीजल इंजन और पेट्रोल इंजन में अंतर – Difference between diesel engine and petrol engine in Hindi

बायोटेक्नोलॉजी कोर्स की फीस | Bio technology course Fees

गवर्नमेंट कॉलेज और प्राइवेट कॉलेज में बायोटेक्नोलॉजी पाठ्यक्रम की फीस विभिन्न होती है। एक डाटा के हिसाब से इस कोर्स की सामान्य तौर पर शुल्क ₹35000 से लेकर के ₹1,00000 सालाना होती है। हालांकि कुछ कॉलेज में सालाना शुल्क 100000 से भी ज्यादा हो सकती है। इस तरह से जिस कॉलेज में आप दाखिला या  एडमिशन लेंगे उस कॉलेज में इस पाठ्यक्रम की फीस के विषय में अवश्य पता करें।

Related – Top 10+ बेस्ट कोडिंग ऐप | Best Coding Apps for Android Free in Hindi 

समाप्ति –

उक्त लेख में हमने आज आपको बायोटेक्नोलॉजी के बारे में संपूर्ण जानकारी में बायोटेक्नोलॉजी क्या है बायोटेक्नोलॉजी कैसे करते हैं एवं इसमें सम्मिलित कोर्स क्या-क्या है और कितनी फीस लगती है की विस्तृत जानकारी दिए हैं। अगर आपको बायो टेक्नोलॉजी से संबंध कोई प्रश्न हो तो हमें आप कमेंट कर सकते हैं ताकि आपको संतुष्ट जनक जवाब दे सकें।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...