DSP कैसे बनें? सिलेबस, कार्य, सैलरी, भर्ती प्रक्रिया पूरी जानकारी – DSP Kaise Bante Hai

Date:

DSP Kaise Bane:- इस आर्टिकल में डीएसपी कैसे बने? How to become DSP in Hindi के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं। ताकि आपको DSP Kaise Bane? की पूरी जानकारी में डीएसपी भर्ती प्रक्रिया, स्लेबस, योग्यता, आयु की सही जानकारी पता चल सके।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

अक्सर आप लोग एसपी, डीएसपी, एसडीओपी, तहसीलदार जैसे नाम लोगों के जुबान से सुनते हैं जिनमे से एक है डीएसपी (DSP) जी हां जिसके बारे में आज हम आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं ताकि आपको पुलिस विभाग में डीएसपी कौन होता है और इसके क्या कार्य होते हैं के बारे में पता चले। अगर आप भी डीएसपी बनना चाहते हो तो हम आपको डीएसपी भर्ती प्रक्रिया भी बताएंगे जिससे आपको पता चल जाएगा कि डीएसपी कैसे बनते हैं।

डीएसपी बहुत अच्छा और सम्मान वाला पद होता है जिसके लिए पीएससी एग्जाम पास करना होता है तब जाकर बड़ी मुश्किल से डीएसपी बनते हैं। डीएसपी बनना आज कल हर व्यक्ति जो नौकरी की तलाश में है उनका सपना होता है कि हम भी डीएसपी बने लेकिन जितना आप और हम सोंचते है उतना आसान नहीं होता है डीएसपी बनना। क्योंकि डीएसपी बनने के लिए कठिन परिस्थितियों में और बहुत टफ एक्जाम को पास करना होता हैं।

डीएसपी से संबंधित लोगों के मन में बहुत सारे प्रश्न होते हैं जैसे कि डीएसपी कैसे बनें या डीएसपी कैसे बनते है। डीएसपी बनने के लिए कौन सी परीक्षा या एग्जाम देना होता है। डीएसपी बनने के बाद सैलरी (Salary) कितनी मिलती है। डीएसपी को क्या क्या सुविधाएं मिलती है। डीएसपी के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है। डीएसपी बनने में कितने साल लगते हैं। 12वीं के बाद डीएसपी कैसे बन सकता हूं। डीएसपी की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है। डीएसपी के बाद कौन सी पोस्ट आती है। 

अब लेख को आगे बढ़ाते हैं और जानते हैं कि DSP Kaise Bane (how to become a dasp in Hindi) के बारे में विस्तृत जानकारी।

Table of Contents

DSP Full Form in Hindi English

DSP का पूरा नाम होता है “Deputy Superintendent of Police” जो हिंदी और अंग्रेजी दोनों में एक प्रकार के पुलिस अधिकारी का पद होता है।

DSP कौन होता है? | DSP Kaun Hota Hai

DSP (Deputy Superintendent of Police) पुलिस सेवा में एक महत्वपूर्ण पद होता है। यह पद भारतीय पुलिस संगठन में होता है और इसका मुख्य कार्यक्षेत्र कानून और क्राइम के मामलों का प्रबंधन करना होता है।

DSP के कार्य समाहरण से लिए जाते हैं, जैसे कि सुरक्षा की निगरानी करना, अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करना, और अपराधिक जाँच का प्रबंधन करना। उनका यह भी कार्य होता है कि वे अपने क्षेत्र के पुलिस अधिकारियों की निगरानी करें और उनके काम का मॉनिटरिंग करें।

DSP का पद भारतीय पुलिस में एक स्तर के अधिकारी की स्थानिक वर्गीकरण का हिस्सा होता है, और उन्हें अपने क्षेत्र की सुरक्षा और कानून व्यवस्था की रक्षा करने का महत्वपूर्ण कार्यक्षेत्र सौंपा जाता है।

DSP अपने क्षेत्र में अपराधों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करने और समाज में न्याय को साधने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, और वे पुलिस संगठन के महत्वपूर्ण सदस्य होते हैं जो सुरक्षा और कानून व्यवस्था की रक्षा करते हैं।

डीएसपी के कंधे पर भी तीन स्टार होते हैं और डीएसपी की गाड़ी में DSP लिखा हुआ होता हैं।

DSP Kaise Bane | डीएसपी कैसे बनें| How To Become DSP in Hindi

डीएसपी कैसे बनते हैं: DSP बनने के लिए आपको कई अलग अलग तरीकों से गुजरना पड़ता है अगर आप एक डीएसपी की तैयारी कर आप DSP बनना है चाहते हैं तो सबसे पहले आपको यूपीएससी (MP-PSC) के एग्जाम में आवेदन करना होगा । MPPSC के द्वारा सिविल पोस्ट की भर्ती निकाली जाती है और फिर आपको उसके लिए आवेदन करना होता है। अगर आप इनके चयन प्रिक्रिया में सफल होते हैं तो आपको एक DSP पद मिल जाता है। जिस प्रकार मध्य प्रदेश में पीएससी को एमपीपीएससी बोलते हैं ऐसे नहीं अन्य राज्यों में PSC से पहले राज्य का नाम आएगा जैसे उत्तर प्रदेश में UPPSC बोलते है। क्या है डीएसपी बनने की पूरी प्रोसेस चलिए जानते हैं –

DSP बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

डीएसपी दो तरीकों से बनते हैं पहला है पीएससी (PSC) एग्जाम पास करके और दूसरा है प्रमोशन होकर डीएसपी बनते हैं।

पीएससी एग्जाम के द्वारा डीएसपी में शैक्षणिक योग्यता –

DSP (Deputy Superintendent of Police) बनने के लिए शैक्षिक योग्यता के रूप में आमतौर पर एक स्नातक (बैचलर्स) डिग्री की मांग की जाती है। इसका मतलब है कि आपको उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद कम से कम ग्रेजुएशन (बैचलर्स) की डिग्री होनी चाहिए।

डीएसपी बनने के लिए शैक्षिक योग्यता का स्तर आमतौर पर बहुतायती होता है ताकि उम्मीदवार अपने कार्यक्षेत्र में जिम्मेदारीपूर्ण और विशेषज्ञ तरीके से काम कर सकें।

यदि आप DSP बनने का इरादा रखते हैं, तो आपको अपने इंटेंडेड राज्य या पुलिस संगठन के आधिकारिक निर्देशों का पालन करना होगा, जिसमें शैक्षिक योग्यता के साथ-साथ अन्य पात्रता मानदंडों की भी जांच की जाती है।

कांस्टेबल या सब इंस्पेक्टर से प्रमोशन

कांस्टेबल से डीएसपी बनने के लिए आपका रिकॉर्ड अच्छा होना चाहिए अगर आप पुलिस विभाग में अच्छे से काम करते हैं आपकी से में काफी इनाम और प्रशंसाएं होती है तो उसके आधार पर जैसे-जैसे आप सीनियर होते जाते हैं आपको कांस्टेबल से हेड कांस्टेबल उसके बाद एएसआई उसके बाद सब इंस्पेक्टर उसके बाद टी आई उसके बाद आपको डीएसपी बना दिया जाता है। कांस्टेबल भर्ती में समानता दसवीं पास मांगा जाता है और क्रांतिकारी के हिसाब से अलग-अलग रहता है जैसे ओबीसी और सामान्य में आपको दसवीं पास होना जरूरी है।

सब इंस्पेक्टर के लिए आपको ग्रेजुएट होना जरूरी है अगर आप सब इंस्पेक्टर बनते हैं और धीरे-धीरे आपका प्रमोशन होता है आपका रिकॉर्ड अच्छा है तो आप धीरे-धीरे प्रमोशन होकर सब इंस्पेक्टर से टी और उसके बाद और प्रमोशन होकर आप डायरेक्ट DSP बन जाते है।

उक्त दोनों तरीकों से से डीएसपी बनते हैं दोनों के बारे में योग्यता क्या होना चाहिए हमने आपको बता दिया है।अगर आप डायरेक्ट डीएसपी बनते हैं तो आपके लिए शैक्षणिक योग्यता ग्रेजुएट होना जरूरी है अगर आप कांस्टेबल से बनते हैं तो आपको दसवीं पास होना जरूरी है ओर अगर आप सब इंस्पेक्टर से डीएसपी बनना चाहते हैं तो आपको सब इंस्पेक्टर के लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है।

DSP बनने के लिए आयु सीमा

दोस्तों, उप-अधिक्षक पद (DSP) के लिए सभी वर्गो के लिए अलग-अलग आयु सीमा होती है  और इसमें आरक्षित वर्गों को उम्र में कुछ छुट देने का भी प्रावधान रहता है। डीएसपी पद उम्मीदवार के लिए उम्र सीमा निम्न प्रकार रहती है है – 

General के लिए 21 वर्ष से 30 वर्ष तक 

OBC  के लिए 21 वर्ष से 33 वर्ष तक

ST/ST के लिए 21 वर्ष से 35 वर्ष तक

DSP बनने के लिए शारिरिक योग्यता

DSP बनने लिए कुछ शारीरिक योग्यता भी रखी जाती है जिन्हे अगर आप पूरा करते हैं तभी जाकर आप डीएसपी पद के लिए एग्जाम में आगे बड़ सकते हैं। DSP बनने के लिए हाईट यानि लम्बाई और चेस्ट यानि सीना कितना होना चाहिए, चलिए जानते हैं – 

डीएसपी उम्मीदवार की लम्बाई Hight 

DSP बनने के लिए उम्मीदवार की लम्बाई Hight को भी माफा जाता है। पुरुष उम्मीदवार और महिला उम्मीदवार की हाईट अलग अलग मांगी जाती है जो निम्न अनुसार है – 

पुरुष वर्ग की लम्बाई (Hight) 168 CM

महिला वर्ग की लम्बाई (Hight) 155 CM

डीएसपी उम्मीदवार का सीना (Chest)

दोस्तों डीएसपी बनने के लिए चेस्ट सीना भी नापते है। अगर आपका सीना इनकी गाइडलाइन के मुताबिक है तो आपको डीएसपी उम्मीदवार के लिए रखा जाएगा नही तो बहार कर दिया जाता है।

पुरुष वर्ग का सीना 84 CM 

महिलाओ के लिए चेस्ट नहीं नापा जाता है।

Related…. IRS Officer Kaise Bane | How to become an IRS Officer in Hindi

DSP बनने के लिए आवेदन प्रक्रिया

DSP के आवेदन PSC के द्वारा निकाले जाते है आपको इसमें आवेदन करना होता है एवं आपको नोट करना होगा की UPSC में कब कब DSP पद की भर्ती जॉब निकाली जाती है। जब कभी भी भर्ती आती है तो आप इसमें ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते है। DSP की भर्ती की जानकारी आप इसकी ऑफिशियल वेबसाइट, समाचार-पत्र, रोजगार-समाचार पत्र, SOCIAL MEDIA आदि के द्वारा भी जनकारी ले सकते है उसके बाद नियत दिनांक को DSP पद के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हों।

DSP की चयन की प्रक्रिया

DSP (पुलिस उप अधिक्षक) बनने के लिए  यूपीएससी (UPSC: Union Public Services Commission) द्वारा आवेदन जारी किया जाता हैं एवं इसके लिए State Civil Service Examination की परीक्षा करवाई जाती है और इसमे तीन प्रकार की चयन प्रक्रिया होती हैं जिसके तहत पुलिस उप अधिक्षक यानि डीएसपी पद का चयन होता है।

DSP की शुरूआती परीक्षा

जब भी आप डीएसपी के लिए आवेदन करते हो तो दोस्तों इसके बाद में सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा देनी पड़ती है इसमें सभी लोग जो भी आवेदनकर्ता भाग लेते है एवं इस परीक्षा में आपको General Study से जुड़े प्रश्न पूछे जाते है। इस परीक्षा में आपके 2 Paper होते हैं। जो की 150:150 नंबर के होगे। बाद अगर आप इस परीक्षा को क्लियर करते हैं तो अगले चरण में परीक्षा हेतु भेज दिया जाता है।

DSP (डीएसपी) की मुख्य परीक्षा

जब आपकी शुरूआती परीक्षा पास हो जाती है तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा देनी पड़ती हैं। जिसमें आपके कुल 9 पेपर देने होते है जिसमे से अगर 7 पेपर मेरिट के होगे एवं 2 पेपर क्वालीफाई के होगे तो इस प्रकार से आपको टोटल 9 पेपर देने होगे। सभी में आपको पास होना जरूरी है तभी आप अगले चरण में पहुंच सकते है यह पेपर निम्न प्रकार से होगे जो टेबल में देख सकते हों –

Paper Subject Marks
पेपर – Aहिंदी भाषा 300
पेपर – Bअंग्रेजी (English )300
पेपर – 1Essay250
पेपर – 2जनरल स्‍टडीज़ – I250
पेपर – 3जनरल स्‍टडीज़ – II250
पेपर – 4जनरल स्‍टडीज़ – III250
पेपर – 5जनरल स्‍टडीज – IV250
पेपर – 6Optional Subject पेपर – I250
पेपर – 7Optional Subject पेपर – II250
डीएसपी Kaise Bane
लिखित परीक्षा का कुल योग1750
साक्षात्कार ( Interview )275
कुल अंक2025
डीएसपी कैसे बनें

DSP (डीएसपी) का साक्षात्कार

लिखित परीक्षा जब आपकी पास हो जाती है तो इसके बाद आपको एक इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। यह इंटरव्यू कुल 275 अंको का रहेगा। इसमें एक पेनल के समक्ष आपका Interview जाता है। इसमें आपका मानसिक एवम तार्किक योग्यता से जुड़े प्रश्न पूछे जाते है और जब आपका इंटरव्यू पास हो जाता है तो इसके बाद में आपकी मेरिट जारी की जाती हैं।

DSP शारीरिक दक्षता परीक्षा

उक्त लिखित परीक्षा एवं इंटरव्यू के क्लियर करने के बाद शारीरिक दक्षता परीक्षा ली जाती है। शारीरिक दक्षता परीक्षा में आपको कई तरह के Test देने होते है जिससे आपकी फिजिकल फिटनेस कैसी है उसकी जाँच की जाती है इसमें आपको निम्न प्रकार के Test देने होते है नीचे टेबल में देख सकते हैं –

  • दौड़ 15 सैकेंड में 100 मीटर
  • दौड़ 170 सेकंड में 800 मीटर
  • शॉट पुट (7.2kgs) 5.60mtrs
  • लंबी कूद 3.80 मीटर
  • ऊंची कूद 1.20 मीटर

दोस्तों निम्न तरह से शारीरक दक्षता परीक्षा होती  है इसकी अधिक जानकारी के लिए आप इसका ऑफिसियल वेबसाइट पर नोटिफिकेशन देख सकते है उसमे आपको इससे जुडी तमाम जानकारी प्राप्त हो जायेगी

लास्ट में सभी प्रोसेस कंप्लीट होने के बाद मेरिट टेस्ट जारी की जाती है और उस मेरिट में उम्मीवार को कुल प्राप्त अंको के आधार पर अलग-अलग रैंक दी जाती है व इसी रैंक के अनुसार कैंडिडेट का डीएसपी के पद के लिए चयन होता है।

Related… पटवारी कैसे बनें? – Patwari Kaise Bane (भर्ती प्रक्रिया, सैलरी, योग्यता)

DSP का वेतन । डीएसपी की सैलरी 

दोस्तों डीएसपी को एक अच्छी खासी मां सम्मानजनक पद के साथ-साथ एक अच्छी सैलरी भी मिलती है। डीएसपी की सैलरी जानने के प्रति बहुत सारे लोग बहुत उत्सुक रहते हैं क्योंकि वह पति इतना मान सम्मान भरा है और उनका पैसा भी अच्छा खासा मिलता है।

डीएसपी को प्रारंभिक मूल वेतन 56,100/- रुपये के आधार पर मासिक सकल वेतन रुपये 1,10,000/- से लेकर 1,35,000/- तक सैलरी मिलती है। सैलरी के साथ-साथ एक डीएसपी रैंक के अधिकारी को आवास भत्ता, यात्रा भत्ता, टेलीफोन एवं बिजली भत्ता तथा नौकर आदि तरीके के भत्ते जैसी मूलभूत सुविधाएं मिलती है।

पद6 वां- सीपीसी वेत7 वां – सीपीसी वेतन 
Clerk & Accountant5,200/- से 20,200/-

ग्रेड पे – 2,800
सकल वेतन 40,000 /- से 52,000/- तक
Sub Inspacto)9,300/- से 34800/-

ग्रेड पे – 4,200 रूपए
सकल वेतन:  49,000/- से 64,000/- तक
DSP15,600/- से 39,100/-

ग्रेड पे – 5,400 रूपए
सकल वेतन:  रुपये 78,000/- से 96,000/- तक
SP15,600/- से 39,100/-

ग्रेड पे – 7,600 रूपए
सकल वेतन:  1,10,000/- से 1,35,000/- तक
डीएसपी की सैलरी

DSP को मिलने वाली सुविधाएं

DSP अधिकारी को कई प्रकार की अलग-अलग सुविधाएं सरकार के द्वारा प्रदाय की जाती है डीएसपी को दी जाने वाली सभी सुविधाओं के बारे में आपकों बताने वाले है ताकि आपको भी पता चले कि क्या क्या सुविधाएं और भत्ते मिलते हैं – 

  • DSP को सरकारी वाहन और सरकारी ड्राईवर भी दिया जाता है।
  • DSP को पानी, टेलेफोन और बिजली इन सभी बिलों का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है।
  • DSP को विदेशी और अधिकारियो यात्रा के समय ठहरने के लिए उच्च श्रेणी का आवास स्थान दिया जाता है।
  • DSP को सुरक्षा गार्ड, माली, रसोइया, नौकर आदि प्रदाय किए जाते है।
  • DSP को फ्री में टेलेफोन कनेक्शन मिलता है जिसके बिल का भुगतान भी भारत सरकार मध्ययाम से किया जाता है।
  • DSP को यात्रा करने के लिए सरकार से भत्ता दिया जाता है।
  • DSP को उसके परिवार के लिए स्वास्थ्य योजना का फायदा दिया जाता है।
  • DSP को एक अच्छा चम चमाता हुआ मकान भी दिया जाता हैं।

उक्त प्रकार से DSP रैंक के ऑफीसर को कई प्रकार की अलग-अलग मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। जिसके बारे में आपको जानकारी होना जरूरी। DSP officer को दी जाने वाली सभी सुविधाएँ VIP लेबल की होती है। इसके अलावा एक डीएसपी अधिकारी को अन्य कई तरह के भत्ते आदि भी दिए जाते है।

Related…. सीबीएसई क्या है, इसके कार्य क्या है? -What is CBSE in Hindi

DSP Officer के कार्य और अधिकार

पुलिस डिप्टी सुपरिंटेंडेंट (DSP) एक उच्च ताकती पुलिस अधिकारी होते हैं और उनके कार्य और अधिकार निम्नलिखित होते हैं:

सुरक्षा और शांति की रक्षा: DSP का मुख्य कार्य होता है अपने थाना क्षेत्र की सुरक्षा और शांति की रक्षा करना। वे अपराध और गुंडागर्दी के खिलाफ कदम उठाते हैं और अपराधिक घटनाओं की जांच करते हैं।

जांच और अनुसंधान: DSP अपराधों की जांच करते हैं, जांच प्रक्रिया की निर्देश देते हैं, और अपराधियों की पकड़ की कोशिश करते हैं। वे गवाहों के साथ संबंधित साक्षरता करते हैं और सबूत इकट्ठा करते हैं।

सामाजिक सुरक्षा: उन्हें सामाजिक सुरक्षा साजिशों और तंत्रिक घटनाओं के संबंध में निर्णय लेना होता है, और आपातकालीन स्थितियों में सुरक्षा के लिए कदम उठाना हो सकता है।

सुरक्षा के लिए निर्णय: DSP को सुरक्षा संबंधित निर्णय लेने का अधिकार होता है, जैसे कि तंत्रिक घटनाओं के संबंध में कदम उठाना, कुछ क्षेत्रों में धर्मिक प्रक्रियाओं का प्रबंधन, और आपातकाल में सुरक्षा उपायों की घोषणा करना।

सार्वजनिक सुनवाई: DSP अपने क्षेत्र में सार्वजनिक सुनवाई में गवाह के रूप में उपस्थित हो सकते हैं और उनका साक्षरता देना आवश्यक हो सकता है।

प्रशासनिक कार्यवाही: वे अपने क्षेत्र में स्थानीय पुलिस शासन के प्रबंधन का कार्य करते हैं, जिसमें पुलिसकर्मियों की तैनाती, प्रशासनिक कार्यवाही की जाँच, और सुरक्षा के लिए निर्णय शामिल होते हैं।

प्रशिक्षण: DSP को अपने टीम के सदस्यों को प्रशिक्षित करने और उन्हें सुरक्षा के नियमों और नियमों का पालन करने में मदद करने का कार्य हो सकता है।

लॉ और नियमों का पालन: DSP को सभी कानूनी और पुलिस संबंधित नियमों और विधियों का पालन करना होता है, ताकि कानून और क्रिमिनल प्रक्रिया के अनुसरण की जा सके।

Related ….

FAQ,s

DSP कैसे बने?

DSP बनने के लिए सामान्यत: पुलिस सेवा में सीधे भर्ती होने की प्रक्रिया को पूरा करना होता है। इसके लिए आवेदकको एक राज्य लोक सेवा परीक्षा (State Civil Service Exam) देनी होती है और इस परीक्षा में सफलता पाने के बाद विभिन्न पदों के लिए चयन किया जाता है। DSP का पद इस प्रक्रिया का हिस्सा होता है।

DSP की योग्यता क्या होती है?

योग्यता विभिन्न राज्यों और क्षेत्रों के आधार पर भिन्न हो सकती है, लेकिन आमतौर पर एक सामान्य स्नातक डिग्री की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, कुछ राज्यों में उम्र सीमा, नागरिकता, और अन्य योग्यता मानदंड निर्धारित करते हैं।

DSP बनने के लिए परीक्षा कैसे देनी होती है?

डीएसपी बनने के लिए आवेदकको अपने राज्य की लोक सेवा परीक्षा (State Civil Service Exam) में भाग लेना होता है। इस परीक्षा में विभिन्न प्रकार के चरण हो सकते हैं, जैसे कि प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, और साक्षात्कार। उसके बाद, सफल उम्मीदवारों को डीएसपी पद के लिए चयन किया जाता है।

DSP के पद के लिए कितनी तैयारी की जरूरत होती है?

DSP के पद के लिए तैयारी आवेदक की मेहनत, समझदारी, और सामग्री तैयार करने की क्षमता पर निर्भर करती है। यह एक लंबी और आवश्यक तैयारी की मांग कर सकता है, और कई बार प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, और साक्षात्कार की तैयारी को समाप्त करने की आवश्यकता होती है।

DSP बनने के बाद क्या काम करते हैं?

DSP का प्रमुख कार्य सुरक्षा और कानून और क्राइम के खिलाफ कदम उठाना होता है। वे अपराधों की जांच करते हैं, अपराधियों की पकड़ करते हैं, और सुरक्षा को संबंधित निर्णय लेते हैं। उनका काम अपने क्षेत्र की सुरक्षा और शांति की रक्षा करना होता है।

Conclusion – 

उक्त लेख में हमने आज आपको डीएसपी कौन होता है डीएसपी के अधिकारी और कार्य क्या होता है डीएसपी की भर्ती प्रक्रिया क्या होती है। सिंपल शब्दों में कहे तो डीएसपी कैसे बने के बारे में आज हमने आपको पूरी प्रक्रिया बताइए जिसमें आपको बढ़ती प्रक्रिया से लेकर इंटरव्यू तक के बारे में विस्तृत जानकारी आप तक पहुंचाने का प्रयास किया है।

अगर आपको डीएसपी कैसे बनते हैं लेख अच्छा लगा हो तो कृपया करके बिना अपना निवेदन है कि अपने दोस्तों को जो डीएसपी की तैयारी करना चाहते हैं उनको शेयर करें ताकि उनको भी पता चले कि डीएसपी बनने के लिए पूरी प्रक्रिया क्या होती है।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...