सॉफ्टवेयर क्या है, कितने प्रकार के होते हैं? – Software Kya Hai

Date:

नमस्कार जी! इस आर्टिकल में ‘सॉफ्टवेयर क्या है, कितने प्रकार के होते हैं? – Software Kya Hai’ (What is software, What are the types of software?) के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Internet और Technology की दुनिया है ये आप अच्छे से जानते है और Digital Technology Technology के समय में हमको नए नए शब्द सुनने को मिलते है, जैसे कि Software, Hardware, Printer Output, input आदि।

ऊपर दिए गए नामो में से आज हम आपको सॉफ्टवेयर के बारे में बताने वाले हैं जैसे कि – सॉफ्टवेयर क्या है, सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है, सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है। अगर आप Computer, Laptop या Android Mobile का उपयोग करते है तो आपको, क्या है सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी होना चाहिए।

मित्रों वैसे आप कोई कंपीटीशन एग्जाम की तैयारी कर रहे है तो हम आपकी नॉलेज के लिए बतादे की ऐसे क्वेश्चन जो कंप्यूटर ओर मोबाइल से संबंधित रहते है जरूर पेपर में आते ही है, जो पूरे पेपर का 15-20% प्रश्न आते है।

वैसे सॉफ्टवेयर का नाम तो हम सुनते ही रहते हैं किंतु कभी हमनें यह सोंचा है कि सॉफ्टवेयर क्या होता है यह कैसे बनता है, सॉफ्टवेयर काम कैसे करता है एवं सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं ये जानने की कोशिश की है । हमे पता है मन में Software Kya Hota Hai और Software Ke Prakar Kitne Hote Hai एवं Software Kam Kaise Karta Hai के बारे में जानने की ईच्छा है, इन सब को ध्यान में रखते हुए आज सॉफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी बताने वाले है।

Related – System Software क्या होता है, काम कैसे करता है और इसके प्रकार

सॉफ्टवेयर क्या है –What is Software in Hindi

Software का हिंदी में अर्थ/मतलब “प्रक्रिया सामग्री” होता है।

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का वह हिस्सा है जिसको हम अपने हाथों से छू नही सकते है आप ऐसा भी कह सकते हो कि अगर हार्डवेयर इंजन है, तो सॉफ्टवेयर उसका ईधन जैसा है।

Software प्रोग्रामो और क्रियाओं की वह फाइल है जो Computer System के सभी कार्यो को अपने नियंत्रण में करता है और कंप्यूटर के अलग-अलग हार्डवेयर के बीच में समन्वय स्थापित करता है, जिससे किसी टारगेट किए गए प्रोग्राम को बिना किसी रुकावट के आसानी से पूरा किया जा सकता है।

सॉफ्टवेयर में सभी कामों की सूचि होती है कि कौन सा कार्य कैसे और कब करना है, Software एक प्रकार का आदेश है जो कि Hardware को करने के लिए दिए जाते है।

सिंपल शब्दों में समझे तो सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर को को आदेश्य देता है की कौन सा कार्य कैसे एवं कब करना है। सॉफ्टवेयर का फुल फॉर्म यानि पूरा नाम ऑपरेटिंग सिस्टम [Oprating System] होता है और Oprating System का शॉर्ट फॉर्म को हम OS कहते है।

दोस्तों अभी तक के आर्टिकल में आपको यह तो पता चल गया कि सॉफ्टवेयर क्या है सॉफ्टवेयर का मतलब क्या होता है सॉफ्टवेयर की परिभाषा क्या होती है लेकिन अभी यह जानना बाकी है कि सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं चलिए शुरू करते हैं।

Related – सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें? कार्य, भर्ती प्रक्रिया, योग्यता- Software Engineer Kaise Bane

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है? – Software Ke Prakar

सॉफ्टवेयर के प्रकार को प्रमुख तीन हिस्सों में बांटा है या हम ऐसा भी बोल सकते हो कि सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते है जो निम्न है –

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर – System Software
  2. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर – Application Software
  3. यूटिलिटी सॉफ्टवेयर – Utility Software

अब सॉफ्टवेयर के सिस्टम सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, यूटिलिटी सॉफ्टवेयर को विस्तार से जानिए।

सिस्टम सॉफ्टवेयर System Software

Programs का ऐसा ग्रुप या समूह जो Computer प्रणाली के कार्यों को पूरा करने में एवं उनको कार्यों के लायक बनाए रखने के लिए तैयार करते है, बता दें कि System Software के बिना Computer एक बेजान मशीन रह जाती है, जिसका कोई मतलब नहीं निकालता है।

System Software, Computer और उपयोग करने वाले के बीच मध्यस्थता बनाए रखने का काम करता है। और डॉस (Dos), यूनिक्स (Unix) एवं मैकिंटोश (Mecintosh) ये सब सिस्टम सॉफ्टवेयर ही है।

System Software को भी दो अलग अलग भागों बांटा गया है पहला ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर और दूसरा लैंग्वेज ट्रांसलेट सॉफ्टवेयर।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर – Application Software

Application Software किसी विशेष काम के लिए बनाया गया Programo का एक समूह होता है। ‘एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर’ का निर्माण किसी विशेष कार्य एवं व्यक्ति की जरूरत के हिसाब से तैयार किया जाता है।

यह सिस्टम सॉफ्टवेयर और उपयोगकर्ता के बीच समन्वय स्थापित करने का काम करता है। Application Software जैसी एप्लिकेशन का निमार्ण किसी ऑपरेटिंग सिस्टम को पूरा करने के लिए किया जाता है।

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर -Utility Software

Utility Software इस्तेमाल कई तरह के एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर मे किया जाता है एवं यह कंप्यूटर की कार्य दक्षता को और बढ़ाने का काम करता है।

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के कार्यों को सिंपल बनाता है और वायरस से भी बचाता है। Utility Software अनेक प्रकार के होते है जैसे बैकअप प्रोग्राम, एंटीवायरस यूटिलिटी, फाइल मैनेजर, डिस्क फॉर्मेटिंग, डिस्क क्लीनअप आदि।

अभी तक के आर्टिकल में अपने सॉफ्टवेयर क्या है सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है एवं सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं यह सब जानकारी के बारे में अच्छे से जान लिया है चलिए अब जानते हैं सॉफ्टवेयर का आविष्कार यानी निर्माण किसने किया।

Related – GPS कैसे काम करता है? What is GPS and how does it work in Hindi

सॉफ्टवेयर का आविष्कार किसने किया था?

कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर का आविष्कार 19 वीं सदी में किया गया था, एडा लवलेस और चार्ल्स बैबेज दोनों ने एक साथ मिलकर सन् 1842 में कंप्यूटर में नया विश्लेषण {अल्गोरिथम} को लाने वाली पहली महिला बनी थी, उस वक्त सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल सिर्फ प्रोग्रामिंग के लिए एवं नंबर कैलकुलेट करने ही किया जाता था।

FAQ,s

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है?

कंप्यूटर के लिए आदेशों को भेजने वाले सॉफ्टवेयर को ही कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कहते हैं।

Software का Full Form क्या है?

सॉफ्टवेयर का फुल फॉर्म ‘ऑपरेटिंग सिस्टम’ (Oprating System) होता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम (Oprating System) का शॉर्ट फॉर्म क्या होता है?

OS

कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर की क्या भूमिका है?

सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो और क्रियाओं की वह फाइल है जो Computer System के सभी कामों को नियंत्रित करता है एवं कंप्यूटर के अलग-अलग हार्डवेयर के बीच में एकता बनाता है। जिससे किसी भी Target Program को बिना किसी रुकावट के पूरा किया जा सकता है।

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते है?

सॉफ्टवेयर मुख्यतः तीन प्रकार के होते है –
1- System Software
2- Application Software
3- Utility Software

सॉफ्टवेयर की उपयोगिता क्या है?

यह प्रोग्रामो और क्रियाओं की वह फाइल है जो Computer System के सभी कामों को नियंत्रित करता है व कंप्यूटर के अलग-अलग Hardware के बीच में समन्वय स्थापित करता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है?

Programs का ऐसा ग्रुप या समूह जो Computer प्रणाली के कार्यों को पूरा करने में एवं उनको कार्यों के लायक बनाए रखने के लिए तैयार करते है, बता दें कि System Software के बिना Computer एक बेजान मशीन रह जाती है, जिसका कोई मतलब नहीं निकालता है।

निष्कर्ष –

सॉफ्टवेयर क्या होता है लेख में हमने आपको सॉफ्टवेयर के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तृत रूप से दी है जिसमें हमने आपको सॉफ्टवेयर क्या होता है सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है सॉफ्टवेयर कितने प्रकार का होता है आदि।

HindiMe India ब्लॉक पर हमेशा रिसर्च करके जानकारी पब्लिश की जाती है ताकि आपको एक ही ब्लॉक पर एक ही आर्टिकल पर पूरी जानकारी मिल जाए जिससे आपका समय भी बचेगा और सही जानकारी भी मिलेगी।

अगर आपके मन में Software Kya Hai (What is Software in Hindi) से रिलेटेड कोई प्रश्न हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर सेंड करिए ताकि हम आपको और अच्छे से सॉफ्टवेयर के बारे में समझ सके।

अगर आपको हमारा यह लेख सॉफ्टवेयर की परिभाषा सॉफ्टवेयर का मतलब क्या होता है अच्छे से समझ में आया हो तो अपने सभी मित्रों रिश्तेदारों को शेयर करें ताकि उनको भी ऐसी यूजफुल इनफॉरमेशन मिल सके धन्यवाद।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...