डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर – Difference between CREDIT CARD and DEBIT CARD in Hindi

Date:

क्या आप जानते है “DEBIT CARD” एवं “CREDIT CARD” में अंतर – ““Difference between “CREDIT CARD” and “DEBIT CARD” in Hindi””, अगर नही जानते कि क्रेडिट Card एवं डेबिट Card दोनो में क्या अंतर होता है तो आज की पोस्ट में आपको “DEBIT CARD” Aur “CREDIT CARD” Me Antar को बताने वाले हैं|। “DEBIT CARD” एवं “CREDIT CARD” दोनों के बीच में अंतर समझने के बाद ही “CREDIT CARD” Kya Hota Hai एवं “DEBIT CARD” Kya Hota Hai के बारे में अच्छे से समझ में आ जायेगा|।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Hello Guys, टेक्नोलॉजी के समय में बढ़ते डिजीटल Bankिग के चलते हमको “ATM Card” के अलग अलग नाम सुनने में आते हैं, अक्सर हम लोगो द्वारा या टीवी एवं Mobile, न्यूज़ में “CREDIT CARD” एवं “DEBIT CARD” के बारे में सुनते हैं एवं देखते हैं|। ज्यादातर लोगों को यही पता है कि क्रेडिट Card एवं डेबिट Card दोनो एक ही है जबकि ये गलत है, क्रेडिट एवं डेबिट Card में बहुत अंतर है|।

दोनों की बनावट का आकार एक जैसी है किंतु उपयोग अलग-अलग है आपको सिर्फ यही जानकारी होगी कि इनसे केवल ATM Machine से पैसा निकाला जाता है इससे ज्यादा इनका कोई इस्तेमाल नही है|। आज आपके इसी कंफ्यूजन को दूर करने के लिए ही लेख में “DEBIT CARD” Ka Upyog एवं “CREDIT CARD” Ka Upyog से लेकर दोनो में क्या अंतर है इसको भी स्पष्ट कर देंगे|।

अब आगे की जानकारी में “DEBIT CARD” Aur “CREDIT CARD” Me Kya Antar/Difference Hota Hai के बारे में विस्तार से जानते हैं –

“DEBIT CARD” क्या होता है|। What is Debit Card in Hindi 

जब भी हम लोगों से कोई भी Bank में अकाउंट खुलवाता है, तो Bank में अकाउंट खुलवाने पर हमें पासबुक, चेक बुक एवं उसके साथ एक Card भी मिलता है|। यह Card  प्लास्टिक का छोटा सा होता है|। 

जिस पर सामने की ओर एक 16 डिजिट का नंबर एवं उसके पीछे एक 3 डिजिट का CCV नंबर लिखा हुआ होता है|। साथ ही सामने जहां 16 डिजिट का नंबर लिखा होता है वहां पर उस Card की Expire Date भी लिखी हुई होती है एवं कुछ Bankों के Card में Account Holder का Naam भी मेंशन किया हुआ होता है|। इस Card को “ATM Card” या “DEBIT CARD” कहते हैं|।

Related – टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Technology in Hindi

“CREDIT CARD” क्या होता हैं

“CREDIT CARD” एक प्रकार का वित्तीय उपकरण होता है जो आपको किसी वस्तु या सेवा की खरीद पर पैसे खर्च करने की अनुमति देता है|। यह एक आर्थिक यंत्र है जो आपको एक निश्चित लिमिट तक वित्त प्रदान करता है जिसके अंतर्गत आप वस्तुओं या सेवाओं की खरीद कर सकते हैं एवं बाद में उन पैसों को अपनी Bank से वापस कर सकते हैं|। ऐसे Card को ही “CREDIT CARD” कहते हैं|।

Difference DEBIT CARD और CREDIT CARD के उपयोग में 

“DEBIT CARD” के उपयोग “CREDIT CARD” ke upyog
“DEBIT CARD” से आप कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन जैसे कि किसी को पैसे भेजना है, या Mobile रिचार्ज करना है, टेलीविजन रिचार्ज करना है, या एवं भी किसी भी तरह के ऑनलाइन कार्य को आसानी से कर सकते हैं|।ऑनलाइन खरीदारी करना,होटल रूम या ट्रैवल बुक करनाजेड समान वितरण करने वाली दुकानों में खरीदारी करनासदस्यता वाली सेवाओं के भुगतान करना, जैसे असामान्य खरीदारी करना|।
अगर आपके पास “DEBIT CARD” है तो आप कभी भी किसी भी एटीएम से कैश निकाल सकती है|। आपको कैश के लिए Bank जाकर लंबी लाइन में लगने की जरूरत नहीं पड़ती|।Netflix, Amazon Prime आदि, इंटरनेट शॉपिंग करना जैसे Amazon, Flipkart आदिगैस, बिजली, एवं जल बिल जमा करना|।
यदि आपके पास ATM Card है तो आप कहीं भी आसानी से सीधे अपने अकाउंट से ही पेमेंट कर सकते हैं  Card को स्वाइप करके एवं अब अपना पिन डालकर आप किसी भी जगह से शॉपिंग कर सकते हैं एवं पैसे सीधे आपके अकाउंट से कट जाते हैं|।रेस्तरां या अन्य खाने की जगहों पर भुगतान करनाईमेल या अन्य ऑनलाइन सेवाओं का भुगतान करनाऑटोमेटेड वेतन भुगतान या लोन भुगतान करना
Difference between CREDIT CARD and DEBIT CARD in Hindi

Related – Paytm से पैसे कैसे कमाए – Paytm Se Paise Kaise Kamaye

Difference DEBIT CARD और CREDIT CARD के फायदे में 

“DEBIT CARD” के फायदे “CREDIT CARD” के फायदे 
वित्तीय सुविधाएं: “DEBIT CARD” के फायदे में से एक है कि आप इसे उपयोग करके अपने Bank खाते से पैसे निकाल सकते हैं एवं अपनी खरीदारी कर सकते हैं|। इससे आपको पैसे निकालने के लिए Bank जाने की जरूरत नहीं होती है|।अपनी खरीदारी को आसान बनाना: “CREDIT CARD” के उपयोग से आप आसानी से ऑनलाइन खरीदारी कर सकते हैं एवं वस्तुओं को अपने घर तक पहुंचवा सकते हैं|।
नकद व्यवस्था कम कर सकते हैं: “DEBIT CARD” के फायदे में से एक एवं है कि आप नकद व्यवस्था कम कर सकते हैं|। आप अपने “DEBIT CARD” का उपयोग अपनी खरीदारी के लिए कर सकते हैं एवं इससे आपको नकद पैसे रखने की जरूरत नहीं होती है|।ईमानदार खरीदारी करने के लिए प्रोत्साहित करना: आप अपने “CREDIT CARD” का उपयोग करके बड़ी राशि की खरीदारी कर सकते हैं जो आपको नकद नहीं हैं, इसलिए आपको धन के लिए घबराने की जरूरत नहीं होती|।
बेहतर सुरक्षा: “DEBIT CARD” अपने खाते से पैसे निकालने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करता है|। इसके लिए, “DEBIT CARD” आपको एक पिन कोड प्रदान करता है, जो आपके खाते की सुरक्षा में मदद करता है|। इसके अलावा, आप अपने खाते के लिए नेट Bankिंग या Mobile Bankिंग भी उपयोग कर सकते हैं जो आपको अपने खाते की गतिविधियों पर नजर रखने में मदद करता है|। रिवार्ड प्राप्त करना: बहुत सारे “CREDIT CARD” कंपनियां अपने ग्राहकों को बेहतर देने के लिए रिवार्ड ऑफर देती हैं|। आप खरीदारी करके बेलेंस के लिए रिवार्ड अंक प्राप्त कर सकते हैं जिन्हें आप बाद में नकद में बदल सकते हैं या किसी एवं विकल्प का उपयोग कर सकते हैं|।
इसके लिए आप अपने खाते के लिए एक विशेष यूजर आईडी एवं पासवर्ड लोगिन कर सकते हैं जो आपकी निजी जानकारी को सुरक्षित रखता है|। इसके अलावा, “DEBIT CARD” के बारे में खोया या चोरी होने पर, आप अपने Bank को तुरंत सूचित कर सकते हैं जो आपकी सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण है|।अतिरिक्त सुरक्षा: “CREDIT CARD” कंपनियां आपके खाते की सुरक्षा के लिए उन्नत तकनीक का उपयोग करती हैं एवं आपके खाते को असामान्य गतिविधियों से बचाने में सहायक होता है|।
Difference between CREDIT CARD and DEBIT CARD in Hindi

Related – Instagram Se Paise Kaise Kamaye? जानिए 8 तरीके

“DEBIT CARD” और “CREDIT CARD” के प्रकार में अंतर 

“DEBIT CARD” के प्रकार 

“DEBIT CARD” के प्रकार को मुख्यताः तीन अलग अलग भागों में समझाते है :-

  • Technology Ke Aadhar Par
    1. Contactless “DEBIT CARD”
    2. Magnetic Stripe “DEBIT CARD”
    3. Chip एवं Pin “DEBIT CARD”
  • Uses Ke Aadhar Par – 
    1. Prepaid “DEBIT CARD” 
    2. International “DEBIT CARD” 
    3. Virtual “DEBIT CARD”
    4. Business “DEBIT CARD” 
  • Payment Ke Platform ke Aadhar Par
    1. Visa “DEBIT CARD”
    2. Visa Electron “DEBIT CARD”
    3. Maestro “DEBIT CARD”
    4. Master “DEBIT CARD”
    5. RuPay “DEBIT CARD”

“CREDIT CARD” के प्रकार 

  1. Lifestyle cards 
  2. Rewards cards 
  3. Shopping cards 
  4. Travel and fuel cards 
  5. Banking partnership cards
  6. Business cards 
  7. All cards

Related – Top 10 Best Ludo Game Apps in Hindi -शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ लूडो गेम ऐप्स। लूडो गेम खेलकर पैसे कमाए?

“DEBIT CARD” और “CREDIT CARD” काम कैसे करता है 

“DEBIT CARD” काम कैसे करता है – 

“DEBIT CARD” के काम करने के निम्नलिखित स्टेप्स होते हैं:

  1. खरीदारी या सेवा लेने वाले के पास “DEBIT CARD” स्वीकार करने वाला Card रीडर होता है|। जब आप अपना “DEBIT CARD” उपयोग करते हैं, तो Card रीडर के माध्यम से इसे स्वीकार किया जाता है|।
  2. उपयोगकर्ता के Bank खाते में पर्याप्त धनराशि होने के बाद, Bank खाते से राशि Card पर स्थानांतरित की जाती है|।
  3. Card रीडर अपनी Bank खाते को जाँचता है एवं प्रतिक्रिया देता है कि आपके खाते में पर्याप्त धनराशि है या नहीं|।
  4. इसके बाद आपसे एटीएम पिन मांगा जाता है|। पिन 4 का वो नंबर होता है जो ATM Card के साथ आता है|। पिन एक तरह से पासवर्ड होता है इस पासवर्ड को एंटर करने के बाद ही आप ATM Card से ट्रांजैक्शन सफलतापूर्वक कर पाते हैं|।
  5. स्वीकृति के बाद, राशि Card से कट जाती है एवं इसे व्यापार करने वाले के खाते में जमा कर दिया जाता है|।
  6. अंत में, जब आप “DEBIT CARD” का उपयोग करते हैं, आपको एक रसीद मिलती है जो आपकी खरीद की जानकारी देती है|। रसीद में आपके खाते से कटी राशि, दुकान या सेवा प्रदाता का नाम, तिथि, समय एवं ट्रांजैक्शन का आईडी शामिल होता है|। यह रसीद आपको आपकी वित्तीय ट्रांजैक्शनों की जानकारी देने के साथ-साथ आपके खाते से कटी राशि की रसीद के रूप में भी काम में ली जाती है|।
  7. Related – StarLink internet क्या है? भारत में कब आएगा। StarLink Internet in Hindi

“CREDIT CARD” काम कैसे करता है 

“CREDIT CARD” के काम करने के निम्नलिखित  Step होते हैं:-

  • आप एक “CREDIT CARD” कंपनी से “CREDIT CARD” लेते हैं|। यह कंपनी आपके लिए एक क्रेडिट लिमिट सेट करती है, जो आमतौर पर आपकी आय एवं अन्य विवरणों के आधार पर निर्धारित किया जाता है|।
  • आप अपने Card का उपयोग करते हुए अपनी खरीदारी करते हैं|। जब आप खरीद खत्म करते हैं, तो आप अपने Card पर खरीद की राशि के बराबर एक बिल बनाते हैं|।
  • आप बिल का भुगतान करते हैं|। आपके खाते से राशि कट जाती है एवं कंपनी उस राशि को एक विशिष्ट अवधि के लिए आपको उधारी देती है|। आमतौर पर यह अवधि 30 दिन की होती है|।
  • यदि आप अपना उधारी चुकाने में असमर्थ होते हैं, तो आपके खाते से ब्याज लिया जाता है|। ब्याज आमतौर पर आपके उधारी राशि पर लागू किए जाने वाले एक निश्चित दर से निर्धारित की जाती है|।

Difference between “DEBIT CARD” and “CREDIT CARD” in Hindi

“DEBIT CARD” एवं “CREDIT CARD” दोनों ही विभिन्न तरीकों से काम करते हैं एवं दोनों का अपना अस्तित्व होता है, लेकिन ये दो अलग अलग प्रकार के Card होते हैं जो इसलिए भिन्न भिन्न  होते हैं क्योंकि इन दोनों के उपयोग के पीछे भिन्न-भिन्न अंतर होते हैं|। प्रमुख डिफरेंट निम्न है –

भुगतान करने का तरीका: “DEBIT CARD” सीधे आपके Bank खाते से पैसे काटकर भुगतान करते हैं, जबकि “CREDIT CARD” आपको Bank के पैसे उधारी करने की अनुमति देते हैं|।

ब्याज दर: “CREDIT CARD” कंपनियां इंटरेस्ट के लिए शुल्क लेता हैं जबकि “DEBIT CARD” का इस प्रकार का कोई भी शुल्क नहीं लगता है|।

उपलब्ध राशि: आपके Bank खाते में जितनी राशि होती है, वही आपके “DEBIT CARD” के उपयोग के लिए उपलब्ध होती है|। इसके विपरीत, “CREDIT CARD” कंपनियां आपके खाते से अलग से एक लेनदेन सीमा निर्धारित करती हैं|।

उपयोग का नियंत्रण: क्योंकि “DEBIT CARD” सीधे आपके Bank खाते से पैसे काटकर खरीददारी करते हैं, इसलिए आपको अपनी खरीद की सीमा को नियंत्रित करने की जरूरत होती है|। जब आप अपने खाते में पर्याप्त धनराशि नहीं रखते हैं, तो आप अपने “DEBIT CARD” से खरीददारी नहीं कर सकते हैं|। इस तरह से, “DEBIT CARD” आपको अपने खर्चों के लिए बजट को नियंत्रित करने में मदद करता है एवं आपको अधिक धनराशि खर्च करने से रोकता है|।

इसके विपरीत, “CREDIT CARD” आपको एक निश्चित लेनदेन सीमा प्रदान करता है, जो आपकी “CREDIT CARD” कंपनी द्वारा निर्धारित की गई होती है|। यह सीमा आपकी क्रेडिट स्कोर एवं आपकी आय के आधार पर निर्धारित की जाती है|। इस प्रकार का “CREDIT CARD” आपको अधिक खर्च करने की अनुमति देता है, लेकिन इससे आपको ब्याज के लिए अतिरिक्त शुल्क देने की जरूरत होती है|।

डेबिट कार्ड क्या काम आता है?

“DEBIT CARD” के काम करने के निम्नलिखित स्टेप्स होते हैं:
• खरीदारी या सेवा लेने वाले के पास “DEBIT CARD” स्वीकार करने वाला Card रीडर होता है|।
• जब आप अपना “DEBIT CARD” उपयोग करते हैं, तो Card रीडर के माध्यम से इसे स्वीकार किया जाता है|।
• उपयोगकर्ता के Bank खाते में पर्याप्त धनराशि होने के बाद, Bank खाते से राशि Card पर स्थानांतरित की जाती है|।
• Card रीडर अपनी Bank खाते को जाँचता है एवं प्रतिक्रिया देता है कि आपके खाते में पर्याप्त धनराशि है या नहीं|।
• इसके बाद आपसे एटीएम पिन मांगा जाता है|। पिन 4 का वो नंबर होता है जो ATM Card के साथ आता है|। पिन एक तरह से पासवर्ड होता है इस पासवर्ड को एंटर करने के बाद ही आप ATM Card से ट्रांजैक्शन सफलतापूर्वक कर पाते हैं|।
• स्वीकृति के बाद, राशि Card से कट जाती है एवं इसे व्यापार करने वाले के खाते में जमा कर दिया जाता है|।

क्रेडिट कार्ड का मतलब क्या होता है?

CREDIT CARD” एक प्रकार का वित्तीय उपकरण होता है जो आपको किसी वस्तु या सेवा की खरीद पर पैसे खर्च करने की अनुमति देता है|। यह एक आर्थिक यंत्र है जो आपको एक निश्चित लिमिट तक वित्त प्रदान करता है जिसके अंतर्गत आप वस्तुओं या सेवाओं की खरीद कर सकते हैं एवं बाद में उन पैसों को अपनी Bank से वापस कर सकते हैं|। ऐसे Card को ही “CREDIT CARD” कहते हैं|।

क्रेडिट कार्ड से क्या काम होता है?

• आप एक “CREDIT CARD” कंपनी से “CREDIT CARD” लेते हैं|। यह कंपनी आपके लिए एक क्रेडिट लिमिट सेट करती है, जो आमतौर पर आपकी आय एवं अन्य विवरणों के आधार पर निर्धारित किया जाता है|।
• आप अपने Card का उपयोग करते हुए अपनी खरीदारी करते हैं|। जब आप खरीद खत्म करते हैं, तो आप अपने Card पर खरीद की राशि के बराबर एक बिल बनाते हैं|।
• आप बिल का भुगतान करते हैं|। आपके खाते से राशि कट जाती है एवं कंपनी उस राशि को एक विशिष्ट अवधि के लिए आपको उधारी देती है|। आमतौर पर यह अवधि 30 दिन की होती है|।
• यदि आप अपना उधारी चुकाने में असमर्थ होते हैं, तो आपके खाते से ब्याज लिया जाता है|। ब्याज आमतौर पर आपके उधारी राशि पर लागू किए जाने वाले एक निश्चित दर से निर्धारित की जाती है|।

Conclusion –

कैसा लगा आपको क्रेडिट Card एवं डेबिट Card के बीच अंतर वाला लेख, हमे उम्मीद है कि आपको “CREDIT CARD” Or “DEBIT CARD” Mein Antar Kya Hai जरूर पसंद आया होगा|। अगर आपको ““Difference between “CREDIT CARD” and “DEBIT CARD” in Hindi”” से संबंधित कोई सवाल हो तो Debit vs “CREDIT CARD” Different in Hindi लेख के नीचे कमेंट बॉक्स में सेंड कर सकते हैं आपकी हेल्प की जावेगी|।

क्रेडिट Card एवं डेबिट Card दोनो में क्या अंतर होता है आपको पता चल गया होगा अब आप भी जान गए कि डेबिट एवं क्रेडिट Card में बहुत फर्क होता है जो पहले आपको नही मालूम था|।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...