कैलकुलेटर का आविष्कार किसने और कब?

Date:

Calculater Ka Avishkar Kisne Kiya Aur Kab : आप लोग तो Calculator से भली भांति परिचित होंगे। आप हमेशा बड़ी बड़ी गिनतियों या कैलकुलेशन को जोड़ने, घटाने या गुणा करने के लिए कैलकुलेटर का इस्तेमाल तो करते ही होंगे। क्या आप जानते है कि इतनी बड़ी बड़ी संख्याओं या डिजिट को तुरंत जोड़ या घटा कर बताने वाले इस Calculater का अविष्कार किसने किया?

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

आज हम आपको कैलकुलेटर के बारे में सब कुछ बताएंगे। तो चलिए एक एक करके आपको इस Calculator से जुड़ी तमाम जानकारी हम आपको देते है।

कैलकुलेटर का आविष्कार किसने किया था और कब? Calculator ka Avishkar kisne aur kab Kiya?

सर्वप्रथम साल 1642 में को Wilhelm Schickard ने Calculator की खोज या आविष्कार किया। इन्होंने इस कैलकुलेटर को Blaise Pascal का नाम दिया। इस Calculator में सिर्फ जोड़ना, घटाना और गुणा ही करा जा सकता था। धीरे धीरे इसमे सुधार या मोडिफाई करके इसमे भाग (Divide) की संक्रिया को भी जोड़ दिया गया।

कैलकुलेटर क्या है? What is Calculator? 

कैलकुलेटर एक प्रकार की Electronic Device है, जिसका इस्तेमाल किसी भी गणितीय संक्रियाओं जिसको इंग्लिश में Arithmetical Operation को तेजी से और काफी सटीक प्रकार से करने के लिए किया जाता है। Calculator की मदद से बहुत लंबी या बड़ी गणना को सिर्फ कुछ ही सेकंड में किया जा सकता है। इस लिए इसका इस्तेमाल काफी अधिक होता है। आजकल Mobile और Computer में भी आप कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते है।

कैलकुलेटर का इतिहास History of Calculator 

कैलकुलेटर का इतिहास बहुत ही प्राचीन माना जाता है। आपको बताना चाहते है की 17th Century तक दुनिया में मैकेनिकल कैलकुलेटर का उपयोग किया जा रहा था। साल 1642 में France के वैज्ञानिक Wilhelm Schickard ने मैकेनिकल कैलकुलेटर का आविष्कार किया। इस पहले मैकेनिकल कैलकुलेटर को Blaise Pascal का नाम दिया गया। लेकिन कहा जाता हैं ना की जरूरत आविष्कार की जननी होती है,जैसे जैसे 19th सदी में दुनिया प्रवेश करने लगी वैसे वैसे पूरी दुनिया में इंडस्ट्री क्रांति आने लगी और नई नई आर्थमेटिकल ऑपरेशन को बहुत जल्दी और सटीक तरह से करने के लिए Calculator में नए नए बदलाव होने लगे।

साल 1902 में America के एक वैज्ञानिक जिनका नाम J.L. Dalton था,उन्होंने Dalton Adding Machine की खोज की। इस मशीन की मदद से किसी भी संख्या को जोड़ा जा सकता था। फिर इस तरह के Calculator में सुधार करके इसे जोड़, घटाना,गुणा और भाग की ऑपरेशन किया जाने लगा।

साल 1960 के दशक में Electronic कैलकुलेटर की खोज या आविष्कार हुआ। इसका साइज बहुत ही छोटा था,जिसे पॉकेट यानी जेब में रखा जा सकता था। Modern Calculator को बनाने का काम छोटे Electronic Device और Microprocessor Intel 4000 का इस्तेमाल करके कैलकुलेटर बनाने वाली एक Japan की कंपनी Busicom ने आरंभ किया। आज के टाइम मे साइंटिफिक कैलकुलेटर का भी इस्तेमाल हो रहा है। जो कई बड़े बड़े ऑपरेशन को चुटकियों में कर देते है।

Related….. टीवी का आविष्कार किसने और कब किया

दुनिया का पहला आधुनिक कैलकुलेटर (Modern Calculator) 

अब आपको बताते हैं कि संसार का पहला Modern Calculator क्या था। दुनिया के पहले Modern Calculator का नाम “Stepped Reckoner” था। इसकी खोज Grootfied Van Linebits ने की थी। इसकी सहायता से जोड़,घटाना, गुणा,भाग करना काफी आसान हो गया था।

दुनिया का पहला मशीनी केलकुलेटर World First Mechanical Calculator 

दुनिया के सबसे पहले मैकेनिकल केलकुलेटर का नाम अरिथोमीटर (Arithmometer) था। इस गणक का आविष्कार साल 1820 में वैज्ञानिक Thomasday के द्वारा किया गया था। इसका उपयोग काफी अधिक किया गया क्योंकि इससे जोड़, घटाना,गुणा और भाग करना बहुत सरल हो गया था।

दुनिया का पहला कीबोर्ड वाला कैलकुलेटर World First Keyboard Calculator 

आपको बताना चाहते है कि मैकेनिकल कैलकुलेटर में सुधार या मोडिफाई करके साल 1887 में Keyboard सेट कर दिया गया इस कैलकुलेटर में प्रिंटिंग (Printing) करने की सुविधा थी।

Related… ट्रेन का आविष्कार किसने किया था और कब ?

कैलकुलेटर के प्रकार Types Of Calculator 

अब आपको बताते हैं कि केलकुलेटर कितने टाइप के होते हैं।

[1] Basic Calculator – यह कैलकुलेटर ये ऑपरेशन कर सकता है जैसे Addition, Subtraction,Multiplication,Division, Percentage,Square Root,Simple Memory Function। इसका सामान्य इस्तेमाल छोटी गणनाओ या कैलकुलेशन के लिए किया जाता है।

[2] Financial Calculator – इस तरह का कैलकुलेटर नीचे दिए गए संक्रियाएँ कर सकते है जैसे Simple Interest Calculation, Compound Interest calculation,Cash Flow,Multi Replay,Quadratic Regression, Time Value Money Calculation,Cost Sell Margin

इस कैलकुलेटर का इस्तेमाल ज्यादातर बैंकिंग से संबंधित कार्यों के लिए किया जाता है।

[3] Scientific Calculator – एक साइंटिफिक कैलकुलेटर ये ऑपरेशन कर सकता है जैसे Degree Minutes Second, Factorials, Fraction,Combination,Logarithms Negative Indicator आदि।

इस कैलकुलेटर का अधिकतर इस्तेमाल वैज्ञानिक ऑपरेशन में होता है।

[4] Graphic Calculator – एक ग्राफ़िक कैलकुलेटर निम्न ऑपरेशन कर सकते हैं जैसे,Bar Chart,Complex Number Random Number,Dynamic Graphic,Logic Operation,Parametric Pie Chart,Angle Measurements Random Number,Root & Power, Statistical Calculation आदि।

Related…. कैमरा का आविष्कार किसने किया और कब ?

कैलकुलेटर से जुड़े कुछ रोचक फैक्ट

कैलकुलेटर का इस्तेमाल सिर्फ सामान्य गणना के लिए ही नहीं किया जाता बल्कि इसका इस्तेमाल बड़े से बड़े Engineer,Scientist और Architect द्वारा बड़ी बड़ी गणनाओ को करने में भी किया जाता है। यह लोग Advanced Calculator का इस्तेमाल करते हैं।

• क्या आपको पता है कि Computer कैलकुलेटर का ही विशाल रूप है। Calculator के आधार पर ही Computer की खोज की गई थी।

• यदि आप Real LCD कैलकुलेटर में 0.7734 लिखेंगे तो उल्टा करने पर उसमें आपको हेलो (Hello) लिखा हुआ प्रतीत होगा।

• अबेकस (Abacus) की सहायता से मानव ने कैलकुलेटिंग मशीन का आरंभ किया था।

• क्या आप जानते हैं कि कैलकुलेटर शब्द Latin Word Calculare से बना है जिसका अर्थ होता है पत्थर का प्रयोग करके कैलकुलेशन या गणना करना।

• आपको पता है कि कैसियो नामक कंपनी ने कंप्यूटर स्मार्टफोन के Operating System Android, Window, iOs और Mac के लिए Calculator का सॉफ्टवेयर बनाया जिससे हम अपने कंप्यूटर के Smartphone में भी कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

Related… मोबाइल का आविष्कार किसने किया था और कब 

कैलकुलेटर कैसे काम करता है ? How Does  Calculator Work?

Calculator की प्रत्येक बटन के नीचे मेंब्रेन लगी रहती है। जब हम Calculator की कोई भी बटन को दबाते हैं तो Button दबने के साथ ही उस Button के नीचे की Membrane प्रेस होकर  नीचे जाती है। जिससे Keyboard सेंसर के Layer के बीच इलेक्ट्रिकल कॉन्टैक्ट स्टेबलिश हो जाता है और इसे Keyboard Circuit डिटेक्ट कर लेती है। Process Chip यह स्पष्ट करती है कि किस बटन को दबाया गया है।

जिस बटन को दबाया गया होता है, वह Processor Chip से कैलकुलेटर के Display में Appropriate Segment को एक्टिवेट यानी  सक्रिय करती है। जब तक हम किसी भी Operational Button (+ – × ÷) को नहीं दबाते हैं तब तक हम जिन डिजिट्स या नंबर्स को लिखते हैं,उन्हें Processor डिस्प्ले पर दिखाता है। परंतु जैसे ही हम ऑपरेशनल बटन को प्रेस करते हैं वैसे ही वह उसकी कैलकुलेशन करके उसे संग्रहित कर लेता है।

Save की गई कैलकुलेशन के परिणाम को छोटी मेमोरी में सेव किया जाता है जिसको Register कहते है। रजिस्टर मे रिजल्ट को Save करने के बाद डिस्प्ले क्लियर हो जाती है। और कोई नई गिनती या डिजिट लिखने के बाद प्रोसेसर चिप उसे एक के बाद एक नंबर या डिजिट दिखाएगा और उसको भी रजिस्टर में Save कर देगा। अंतिम में जब रिजल्ट के लिए = (Equal) के बटन को प्रेस किया जाता है तो Calculator उसका परिणाम Display पर शो कर देता है। इस तरह से Calculator बड़ी से बड़ी संख्या के लिए किया गया कोई भी Arithmatical Operation चुटकियों में सॉल्व कर देता है।

Related…. घड़ी का आविष्कार किसने और कब किया

निष्कर्ष –

वैसे हमे लगता है कि आपको Calculator का आविष्कार किसने और कब किया के बारे में आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा यदि फिर भी आपको सर्वप्रथम कैलकुलेटर का आविष्कार किसने किया था और कब से जुड़ी कोई भी जानकारी में किसी भी प्रकार की समस्या हो तो मुझे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताएं।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...