HTML क्या है, कैसे काम करता है? What is HTML in Hindi

Date:

हिंदी में इंडिया ब्लॉक पर आपका स्वागत है। दोस्तों आज के लेख में हम आपको एचटीएमएल किया है एचटीएमएल कैसे काम करता है एचटीएमएल कितने प्रकार के होते हैं एचटीएमएल के क्या फायदे हैं के बारे में पूरी जानकारी बताने वाले हैं।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

टेक्नोलॉजी के समय में एचटीएमएल (HTML ) के बारे में जानना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि एचटीएमएल से ही पूरा Technology System चलता है अगर आप एक एजुकेशन करते हो या फिर आप किसी कंपनी में काम करते हो तो भी आपके लिए HTML क्या है HTML के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है अगर आप बढ़ती हुई टेक्नोलॉजी के साथ में इन सब चीजों को नहीं सीखेंगे तो आप कहीं ना कहीं दूसरे लोगों से पीछे रह जाएंगे इसलिए आपको HTML के बारे में जानना बहुत जरूरी है।

अब हम आपको HTML Kya Hai, HTML Kaise Kam Karta Hai, HTML Kitne Prakar Ke Hote Hai, HTML Ke Fayde Kya Hai, HTML Kaise Sikhe, HTML Full Form in Hindi के बारे में विस्तृत जानकारी बताना शुरु करते हैं।

HTML क्या है? 

HTML (Hypertext Markup Language) एक मार्कअप भाषा है जो वेब पेजों के डिज़ाइन और संरचना को परिभाषित करने के लिए उपयोग की जाती है। HTML का उपयोग वेब डोक्यूमेंट्स को बनाने, संवाद करने, और प्रस्तुत करने के लिए किया जाता है। यह एक संरचित तरीके से जानकारी को प्रस्तुत करने में मदद करता है जिसे वेब ब्राउज़र्स (जैसे कि Google Chrome, Mozilla Firefox, Internet Explorer) समझ सकते हैं और उपयोगकर्ताओं को दिखा सकते हैं।

HTML दो प्रमुख घटकों से मिलकर बना होता है-

टैग्स (Tags)- HTML टैग्स का उपयोग डोक्यूमेंट के विभिन्न हिस्सों को प्रतिनिधित करने के लिए किया जाता है। इन टैग्स के माध्यम से आप टेक्स्ट, छवियाँ, लिंक्स, वीडियो, ऑडियो, तालिकाएँ, और अन्य ऑब्जेक्ट्स को वेब पेज पर जोड़ सकते हैं।

अत्यंत पाठ (HyperText)- HTML वेब पेज्स को इंटरैक्टिव बनाता है, जिससे उपयोगकर्ताएँ हाइपरलिंक्स के माध्यम से अन्य वेब पेज्स पर जान सकती हैं।

HTML वेब डेवलपमेंट का मूल भाषा है और यह वेब पेजों के संरचना को प्रस्तुत करने के लिए स्टैंडार्ड भाषा है। HTML का उपयोग किसी भी प्रकार की वेब पेज, वेब साइट, या वेब ऐप्लिकेशन के डिज़ाइन और विकास के लिए किया जाता है।

HTML Full Form in Hindi

HTML का पूरा नाम हिंदी में “हाइपरटेक्स्ट मार्कअप भाषा” होता है और इसका अंग्रेजी में पूरा नाम “Hypertext Markup Language” होता है।

HTML कैसे काम करता है? 

HTML (Hypertext Markup Language) वेब पेजों के डिज़ाइन और संरचना को परिभाषित करने के लिए काम करता है, और इसे वेब ब्राउज़र्स (जैसे कि Google Chrome, Mozilla Firefox, Internet Explorer) समझते हैं और प्रस्तुत करते हैं। यहां HTML कैसे काम करता है का एक सामान्य अवलोकन है-

टैग्स का प्रयोग– HTML में टैग्स का उपयोग वेब पेज के विभिन्न हिस्सों को प्रतिनिधित करने के लिए किया जाता है। टैग्स विशिष्ट उद्देश्यों के लिए जैब किए जाते हैं, जैसे कि टेक्स्ट को प्रारूपित करने के लिए `<p>` टैग या लिंक्स को बनाने के लिए `<a>` टैग।

निर्देशों का प्रदान– HTML टैग्स के माध्यम से वेब पेज को कहते हैं कि कैसे दिखाया जाना चाहिए। उनमें फॉर्मेटिंग, तालिकाएँ, इंटरैक्टिव ऑब्जेक्ट्स, और अन्य विशेषताएँ हो सकती हैं।

अंतरक्रिया का स्थापना– HTML हाइपरलिंक्स के माध्यम से वेब पेज्स को इंटरैक्टिव बनाता है। उपयोगकर्ताएँ हाइपरलिंक्स पर क्लिक करके अन्य वेब पेज्स पर जा सकती हैं, जिससे वेब के विभिन्न हिस्सों के बीच संचयन और नेविगेशन होता है।

वेब ब्राउज़र्स के माध्यम से प्रस्तुति– वेब ब्राउज़र्स HTML को समझते हैं और उपयोगकर्ताओं के डिवाइस पर वेब पेज्स को दिखाते हैं। वे टैग्स के आधार पर वेब पेज्स की लेआउट, डिज़ाइन, और सामग्री को सही तरीके से प्रस्तुत करते हैं।

वेब पेज के बनावट का पालन– जब वेब ब्राउज़र HTML वेब पेज को समझता है, तो यह वेब पेज के बनावट का पालन करता है और उपयोगकर्ताओं के डिवाइस पर उसे दिखाता है, जिससे वेब पेज अन्योन्यत्रित्व और इंटरैक्टिविटी प्रदान करता है।

HTML वेब डेवलपमेंट के लिए मूल भाषा है और यह वेब पेजों की संरचना को परिभाषित करने के लिए स्टैंडार्ड है।

+ Coding क्या है। Coding Kaise Sikhe?

HTML के प्रकार

HTML कई प्रकार के होते हैं, जो वेब पेजों के विभिन्न प्रकार के सामग्री और उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं। निम्नलिखित हैं कुछ प्रमुख HTML के प्रकार-

HTML 5– यह सबसे नवाचित और स्टैंडार्ड HTML वर्सन है, और आजके समय में सबसे अधिक प्रयुक्त हो रहा है। HTML 5 में नए एलीमेंट्स (elements) और एट्रिब्यूट्स (attributes) शामिल हैं, जिनसे वेब डेवलपर्स को और अधिक विकसन की अनुमति मिलती है।

XHTML (Extensible Hypertext Markup Language)- XHTML HTML का एक संशोधित संस्करण है, जो XML (Extensible Markup Language) के नियमों का पालन करता है। इसका उपयोग वेब पेजों के लिए सख्त और स्थिर मार्कअप के लिए किया जाता है।

HTML 4– HTML 4 वेब डेवलपमेंट के पुराने संस्करणों में से एक है, और आजके समय में आमतौर पर उपयोग नहीं होता है। इसमें HTML 4.01 और HTML 4.0 के अलग-अलग वर्सन्स शामिल हैं।

HTML 3.2– HTML 3.2 भी एक पुराना संस्करण है जो वेब के प्रारंभिक दिनों में उपयोग किया जाता था, लेकिन अब विकसित नहीं किया जाता है।

HTML 2.0– HTML 2.0 वेब के पहले संस्करणों में से एक था जो बहुत ही पुराना है और अधिकतर उपयोग नहीं होता है।

HTML 1.0– HTML 1.0 पहला वेब संस्करण था जो 1993 में जारी किया गया था। इसमें बुनाई के उपाय और टैग्स की कमी थी।

HTML 5.1, 5.2, और अधिक– HTML 5 के बाद, कई छोटे संशोधनों वाले संस्करण भी आए हैं, जैसे कि HTML 5.1 और HTML 5.2, जो नए और बेहतर सुधार के साथ आए हैं।

HTML के ये विभिन्न संस्करण वेब डेवलपर्स को उनकी वेब प्रोजेक्ट्स के आधार पर उपयोग करने की स्वतंत्रता देते हैं और उन्हें उनकी आवश्यकताओं के अनुसार चयन करने की अनुमति देते हैं।

DNS क्या है, कैसे काम करता है? What is DNS in Hindi

HTML का इस्तेमाल 

HTML (Hypertext Markup Language) का उपयोग वेब पेजों और वेब डॉक्यूमेंट्स के डिज़ाइन, संरचना, और प्रस्तुति के लिए किया जाता है। यह इंटरनेट पर सामग्री को संरचित करने और प्रकट करने का माध्यम है। HTML का उपयोग निम्नलिखित कार्यों के लिए किया जा सकता है-

वेब पेजों का डिज़ाइन– HTML के द्वारा वेब पेजों का डिज़ाइन किया जाता है, जिसमें आप टेक्स्ट, छवियाँ, वीडियो, और ऑडियो को सजा सकते हैं।

हाइपरलिंक्स और नेविगेशन– HTML के द्वारा आप हाइपरलिंक्स बना सकते हैं, जिनका उपयोग अन्य वेब पेजों और सामग्री के साथ जुड़ने के लिए किया जा सकता है।

वेब फॉर्म्स– HTML फॉर्म्स के लिए टैग्स प्रदान करता है, जिनका उपयोग उपयोगकर्ताओं से डेटा और जानकारी कलेक्ट करने के लिए किया जा सकता है, जैसे कि संपर्क फ़ॉर्म्स और पंजीकरण फ़ॉर्म्स।

संरचना और लेआउट– HTML आपको वेब पेज की संरचना और लेआउट को व्यक्त करने की स्वतंत्रता देता है, जिससे आप वेब पेज के हीरर, फ़ुटर, मेनू, और सामग्री को व्यक्त कर सकते हैं।

मल्टीमीडिया समर्थन– HTML मल्टीमीडिया आइटम्स (जैसे कि छवियाँ, वीडियो, और ऑडियो) का समर्थन करता है, जिससे आप अपने वेब पेज्स को और रिच और आकर्षक बना सकते हैं।

विभिन्न डिवाइस पर संगत– HTML के द्वारा डिज़ाइन किए गए वेब पेज्स विभिन्न डिवाइसों पर संगत होते हैं, जैसे कि कंप्यूटर, स्मार्टफोन, और टैबलेट।

खोज इंजन अनुकूलन– HTML के द्वारा आप अपने वेब पेज को सर्च इंजन के लिए अनुकूलित कर सकते हैं, जिससे आपकी पेज्स को लोग आसानी से खोज सकें।

जीवंत और इंटरैक्टिव– HTML के द्वारा आप अपने पेज्स को जीवंत और इंटरैक्टिव बना सकते हैं, जिससे उपयोगकर्ताएँ विचार विनिमय कर सकती हैं।

आसान सीखना– HTML सीखना और उसका उपयोग करना सीखने के लिए सरल होता है, और यह वेब डेवलपमेंट की एक अच्छी शुरुआत हो सकती है।

IP Address क्या होता है, आईपी एड्रेस कैसे पता करे?

HTML के फायदे

HTML (Hypertext Markup Language) का उपयोग वेब पेजों और वेब डॉक्यूमेंट्स के डिज़ाइन और प्रस्तुति के लिए किया जाता है, और इसके कई फायदे होते हैं. यहां HTML के 10 महत्वपूर्ण फायदे हैं-

अवश्यक भाषा– HTML वेब पेज की अवश्यक भाषा होती है, जो ब्राउज़र्स को वेब पेज के संरचना को समझने में मदद करती है।

हाइपरलिंक्स– HTML के जरिए आप हाइपरलिंक्स (जिन्हें आमतौर पर लिंक कहा जाता है) बना सकते हैं, जिनसे आप अन्य वेब पेजों के साथ जुड़ सकते हैं।

मल्टीमीडिया समर्थन– HTML मल्टीमीडिया आइटम्स (जैसे कि छवियाँ और वीडियो) का समर्थन करता है, जिससे आप अपने पेज्स को और रिच और आकर्षक बना सकते हैं।

विभिन्न डिवाइस पर संगत– HTML के द्वारा डिज़ाइन किए गए वेब पेज्स विभिन्न डिवाइसों पर संगत होते हैं, जैसे कि कंप्यूटर, स्मार्टफोन, और टैबलेट।

खोज इंजन अनुकूलन– HTML का उपयोग करके आप अपने वेब पेज को सर्च इंजन के लिए अनुकूलित कर सकते हैं, जिससे आपकी पेज्स को लोग आसानी से खोज सकें।

संरचना और लेआउट– HTML आपको अपने वेब पेज की संरचना और लेआउट को व्यक्त करने की स्वतंत्रता देता है, जिससे आप अपने विचारों को प्रस्तुत कर सकते हैं।

फॉर्म्स– HTML फॉर्म्स के लिए टैग्स प्रदान करता है, जिससे आप उपयोगकर्ताओं से डेटा और जानकारी कलेक्ट कर सकते हैं।

जीवंत और इंटरैक्टिव– HTML के द्वारा आप अपने पेज्स को जीवंत और इंटरैक्टिव बना सकते हैं, जिससे उपयोगकर्ताएँ विचार विनिमय कर सकती हैं।

आसान सीखना– HTML सीखना और उसका उपयोग करना सीखने के लिए सरल होता है, और यह वेब डेवलपमेंट की एक अच्छी शुरुआत हो सकती है।

मुफ्त और खुला स्रोत– HTML मुफ्त है और एक खुले स्रोत मार्कअप भाषा है, जिसका अर्थ है कि यह आपके लिए उपलब्ध है और आप इसे अपनी जरूरतों के अनुसार विकसित कर सकते हैं।

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंत

HTML का इतिहास

HTML (Hypertext Markup Language) का इतिहास इंटरनेट के विकास के साथ जुड़ा है। यह एक मार्कअप भाषा है जिसका उपयोग वेब पेजों और डॉक्यूमेंट्स के डिज़ाइन और प्रस्तुति के लिए किया जाता है। यहां HTML के महत्वपूर्ण इतिहास की कुछ महत्वपूर्ण घटनाएँ हैं-

1990 में जन्म– HTML का विकास टिम बर्नर्स-ली (Tim Berners-Lee) द्वारा 1990 में किया गया था। उन्होंने HTML को वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) के लिए एक मार्कअप भाषा के रूप में डिज़ाइन किया था।

HTML 1.0– पहली HTML स्पेसिफिकेशन “HTML 1.0” 1993 में जारी की गई थी। इसमें सीमित संख्या में टैग्स और विशेषताएँ शामिल थीं।

HTML 2.0– HTML 2.0 1995 में जारी की गई थी और इसमें सुधार किए गए थे जैसे कि तालिकाएँ और फॉर्म्स के लिए नए टैग्स का प्रस्तावना किया गया था।

HTML 3.2– 1997 में HTML 3.2 जारी की गई थी, जिसमें फ्रेम्स का समर्थन और अन्य नई विशेषताएँ शामिल थीं।

HTML 4.01– HTML 4.01 1999 में जारी की गई थी और यह विशेषताओं का बड़ा संग्रह था।

XHTML– XHTML (Extensible Hypertext Markup Language) HTML का वाणिज्यिक और सख्त रूप है, जो XML के साथ संगत है।

HTML5– HTML5 जून 2014 में एक W3C रेकमेंडेशन बन गई थी। इसमें मल्टीमीडिया और ग्राफिक्स के लिए नई विशेषताएँ और टैग्स शामिल हैं, जो आधुनिक वेब डेवलपमेंट को सरल और शक्तिशाली बनाते हैं।

HTML का इतिहास वेब डेवलपमेंट में महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह वेब पेजों को डिज़ाइन और प्रस्तुत करने के लिए मूल भाषा है और आधुनिक इंटरनेट का निर्माणक रहा है।

Conclusion – 

प्रिय दोस्तों एचटीएमएल के बारे में जानकारी में हमने आज आपको एचटीएमएल क्या होता है एचटीएमएल का काम क्या है एचटीएमएल के फायदे क्या है एचटीएमएल सीखना क्यों जरूरी है, क्या एचटीएमएल को मोबाइल या कंप्यूटर के जरिए सीख सकते हैं को हमने काफी अच्छे से आपको समझाने का प्रयास किया है। अगर आपके मन में एचटीएमएल से संबंधित कोई अन्य प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हो।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...