सभी 12 राशियों के नाम अक्षर एवं चिन्ह – 12 Rashiyon Ke Naam Akshar or Chinha

Date:

इस लेख में आपको सभी 12 राशियों के नाम अक्षर एवं चिन्ह (Name letters and symbols of 12 zodiac signs) 12 Rashiyon Ke Naam Akshar or Chinha के बारे में जानकारी दी गई है। 

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

12 राशियों के नाम हिंदी (Hindi ) और इंग्लिश (English ) में: हिंदू धर्म (समुदाय) में राशि का बहुत महत्व होता है। बच्चे के जन्म दिनांक से लेकर उसकी शिक्षा, विवाह, मृत्यु तक में राशि का प्रमुख भूमिका होती है। इसी वजह से हिंदू समुदाय के प्रत्येक व्यक्ति को राशि के बारे में विस्तृत जानकारी होनी ही चाहिए। दोस्तों, यदि अपनी राशि का सही जानकारी नहीं है तो आप निजी जीवन में आने वाली अनेक समस्याओं से ज्योतिष अनुसार सही परेशानी से नही बच सकते हों। आपकों अगर अपनी राशि का सही पता है तो आप  सही राशिफल (Horoscope) पता कर सकते है। ज्योतिष शास्त्रों के हिसाब से आकाश मंडल में 360 अंश होते हैं। जिनको 12 राशियों व 27 नक्षत्र में बांटा गया है। बता दे कि 1 राशि में 30 अंश होते हैं। प्रत्येक भाग अपने आप में एक आकृति मतलब कि चिन्ह बनाते हैं। इसी आकृति के अनुसार प्रत्येक राशि का नाम रखा गया है। इसी लिए नाम के अनुरूप सभी राशियों का अपना भिन्न भिन्न महत्व होता है।

मित्रों आज हम आपको इस आर्टिकल में सभी 12 राशियों के नाम उनके अक्षर एवं चिन्ह के बारे में बताने वाले हैं। चलिए अब हम आपको बताते हैं । आज हम इस लेख में सभी 12 राशियों के नाम, अक्षर और चिन्ह (Zodiac Signs) की जानकारी लेकर आए हैं। तो आईए जानते हैं ‘All Rashi Name in Hindi and English में ।

12 राशियों के नाम और अक्षर 12 Rashiyon Ke Naam Aur Akshar

यहां राशियों और उनके अक्षरों की एक टेबल है:

राशिजन्म तिथिअक्षर
मेष (Aries)21 मार्च – 19 अप्रैलच, छ, ल
वृष (Taurus)20 अप्रैल – 20 मईइ, उ, ए, ओ, व
मिथुन (Gemini)21 मई – 20 जूनक, च, छ, घ, ङ
कर्क (Cancer)21 जून – 22 जुलाईह, ड, आ, ई, उ
सिंह (Leo)23 जुलाई – 22 अगस्तम, ट, र, ण
कन्या (Virgo)23 अगस्त – 22 सितंबरप, ठ, त, न, य
तुला (Libra)23 सितंबर – 22 अक्टूबरर, त, न, य, फ
वृश्चिक (Scorpio)23 अक्टूबर – 21 नवंबरन, य, फ, भ, म
धनु (Sagittarius)22 नवंबर – 21 दिसंबरभ, म, य, र, ल
मकर (Capricorn)22 दिसंबर – 19 जनवरीख, ज, घ, ध, भ
कुंभ (Aquarius)20 जनवरी – 18 फरवरीग, श, श्र
मीन (Pisces)19 फरवरी – 20 मार्चद, च, झ, थ, र
सभी 12 राशियों के नाम अक्षर एवं चिन्ह

यह अक्षर आधारित विभाजन ज्योतिष में प्रचलित है और कुछ क्षेत्रों में विभिन्न हो सकता है।

12 राशियों का नाम और उनका महत्त्व

यहां एक सारांशिक रूप से 12 राशियों की विशेषताएँ हैं:

राशिमुख्य विशेषताएँ
मेष (Aries)साहसी, नेतृत्व की क्षमता, जल्दी गुस्सा
वृष (Taurus)स्थिर, संयमी, कल्पनाशील
मिथुन (Gemini)चतुर, बातचीती में माहिर, उत्साही
कर्क (Cancer)आदर्शवादी, संवेदनशील, परिवार को महत्वपूर्ण मानना
सिंह (Leo)उत्साही, स्वाभिमानी, नेतृत्व की क्षमता
कन्या (Virgo)बुद्धिमान, समर्पित, स्वच्छता के प्रेमी
तुला (Libra)समर्थ, सुशील, सहानुभूति
वृश्चिक (Scorpio)गहराई से सोचने वाला, अद्वितीय
धनु (Sagittarius)स्वतंत्र, उत्साही, यात्रा के प्रेमी
मकर (Capricorn)प्रतिबद्ध, संगीतमय, उद्दीपन की भावना
कुंभ (Aquarius)अद्वितीय, नवाचारी, मानविकी के प्रेमी
मीन (Pisces)भावनात्मक, कल्पनाशील, शांति प्रिय
सभी 12 राशियों के नाम और उनका महत्त्व

यह सामान्य विशेषताएँ हैं और व्यक्ति की कुछ अनूठाईयों के लिए बदल सकती हैं।

1. मेष (Aries) के बारे में जानकारी

मेष राशि के जातक 21 मार्च से 19 अप्रैल तक जन्मे जाते हैं और इनका स्वामी ग्रह मंगल है। इस राशि को चार चिह्नों की छद्मवृत्ति से पहचाना जाता है, जो उनकी स्वभावगुणों को दर्शाते हैं।

साहसी और उत्साही, मेष राशि के लोग नए कार्यों में अग्रणी बनने के लिए तैयार रहते हैं। उनमें नेतृत्व की क्षमता होती है और वे अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। इन्हें जल्दी गुस्सा आ सकता है, लेकिन वे भी जल्दी ही शांति प्राप्त कर लेते हैं।

मेष राशि के जातकों को अधिकतम ऊर्जा मिलती है और वे अपने कार्यों में पूर्ण आत्मसमर्पण के साथ काम करते हैं। इन्हें आवेगपूर्ण और उत्साही रहना पसंद है, जो उन्हें जीवन को जीने के लिए प्रेरित करता है। चुनौती को स्वीकार करने में और मुश्किलों का सामना करने में भी इनमें माहिरी होती है।

सम्ग्र में, मेष राशि व्यक्तित्व में उत्साह, साहस, और नेतृत्व की भावना को लेकर प्रमुख है।

2. वृष (Taurus) के बारे में जानकारी

वृष राशि के जातक 20 अप्रैल से 20 मई तक जन्मे जाते हैं और इस राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। यह राशि भूमि तत्व से जुड़ी है, जिससे इनका व्यक्तित्व स्थिर और प्राकृतिक सौंदर्य प्रेमी होता है।

वृष राशि के लोग सामाजिक संबंधों में स्थिरता और सुरक्षा की जरूरत महसूस करते हैं। इन्हें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए संघर्ष करने में संतुलन बनाए रखने का आनंद होता है। शुक्र के प्रभाव के कारण, ये लोग सौंदर्य, कला, और आनंद की प्रवृत्ति रखते हैं।

वृष राशि के जातक अपने साथी और परिवार के प्रति समर्पित और प्यारे होते हैं। उन्हें अपने आत्मविकासन के लिए कड़ी मेहनत करने में आनंद आता है, लेकिन वे अक्सर स्थिर रूप से अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रतिबद्ध रहते हैं।

इनकी विशेषताएँ मेहनत, विश्वासी रूप से सामाजिक संबंध और आत्मविश्वास में स्थिरता हैं, जो उन्हें जीवन में सफल बनाती हैं। इन्हें सुंदर चीजों, स्थिरता और सुरक्षा के माध्यम से आनंद और संतुष्टि मिलती है।

3. मिथुन (Gemini) के बारे में जानकारी

मिथुन राशि के जातक 21 मई से 20 जून तक जन्मे जाते हैं और इस राशि का स्वामी ग्रह बुध है, जो बुद्धिमत्ता और विचारशीलता का प्रतीक है। यह एक वायु तत्व की राशि है, जिससे इस राशि के जातक बहुतंत्री में रुचि रखते हैं और उन्हें नए विचारों की तलाश हमेशा रहती है।

मिथुन राशि के लोग बातचीती में अत्यंत कुशल होते हैं और उन्हें अलग-अलग विषयों पर चर्चा करना पसंद है। इनमें चतुरता और उत्साह का अभिवादन होता है, जिससे वे आसानी से नए और रोचक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं।

कल्पनाशील और बुद्धिमान, मिथुन राशि के जातक अक्सर अलग-अलग विचारों और कल्पनाओं में खोजते हैं। इन्हें बोरियत से दूर रहना और नए और रोचक विचारों को अपनाने का शौक होता है।

इनकी विशेषताएँ शामिल करते हैं सकारात्मक दृष्टिकोण, बातचीती में माहिरी, और उत्साह से भरी प्रवृत्ति, जिससे वे अपने आसपास के लोगों को प्रेरित कर सकते हैं। मिथुन राशि के जातकों का जीवन उत्कृष्टता, बुद्धिमत्ता, और बहुमुखीता से भरपूर होता है।

4. कर्क (Cancer) के बारे में जानकारी

कर्क राशि के जातक 21 जून से 22 जुलाई तक जन्मे जाते हैं और इस राशि का स्वामी चंद्रमा है, जो इन्हें आध्यात्मिकता, संवेदनशीलता, और परिवार के प्रति प्रेम में विशेषज्ञ बनाता है। कर्क राशि का स्वाभाव सूचना और सुरक्षा का होता है।

कर्क राशि के जातक संवेदनशील, आदर्शवादी, और परिवार के लिए समर्पित होते हैं। इनमें एक आत्मा की गहन भावना होती है और उन्हें अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने में आनंद आता है।

कर्क राशि के लोग आपसी संबंधों में गहराई और भावनात्मकता के साथ जीते हैं। इन्हें अपने घर को सुरक्षित और सुखद बनाए रखने का बहुत शौक होता है।

चंद्रमा के प्रभाव से कर्क राशि के जातक मानवीय भावनाओं के प्रति संवेदनशील होते हैं और उन्हें दूसरों की भावनाओं को समझने में कुशलता होती है।

समर्पित और आदर्शवादी, कर्क राशि के जातक अपनी कल्पनाओं और सपनों के माध्यम से अद्वितीयता की ऊंचाइयों को छूने का प्रयास करते हैं। इन्हें अपने आपको और अपने आसपास के लोगों को समझने का अद्वितीय दृष्टिकोण होता है।

5. सिंह (Leo) के बारे में जानकारी

लियो राशि वाले व्यक्ति अधिकतर आत्मविश्वासी, उत्साही और सहानुभूति से भरे होते हैं। उन्हें लोगों की ध्यान में रहना पसंद होता है और वे समाज में अच्छा प्रभाव डालने के लिए काम करते हैं।

इन्हें नेतृत्व की क्षमता होती है और वे अक्सर समुदाय में अच्छे नेता बनते हैं। वे अपनी क्षमताओं पर विश्वास करते हैं और अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कठिन परिश्रम करते हैं।

लियो लोगों को महत्त्वाकांक्षा होती है और वे अपने जीवन में स्थायीता और स्थान स्थापित करने के लिए मेहनत करते हैं। वे स्वतंत्र मनोबल के साथ काम करते हैं और जीवन के लिए संघर्ष को तैयार रहते हैं।

लेकिन कभी-कभी यह राशि के लोग अत्यधिक आत्ममय हो सकते हैं और अपने विचारों में अधिक डूबे रह सकते हैं, जिससे कुछ समय के लिए संबंधों में तनाव आ सकता है।

6. कन्या (Virgo) के बारे में जानकारी

कन्या राशि 23 अगस्त से 22 सितंबर तक की जन्मतिथि वालों को संदिग्ध, विचारशील और बुद्धिमान बताते हैं। ये व्यक्ति विवेकी, अनुशासित और उदार होते हैं। वे अपने कार्यों को पूर्णता और यथार्थता के साथ करने की कोशिश करते हैं।

कन्या राशि के लोगों का विचारशील मनोवृत्ति होता है और वे अक्सर विचारों में डूबे रहते हैं। उन्हें साफ-सुथरे और संगठित काम करने की पसंद होती है। वे दूसरों के साथ सहयोग करने में निपुण होते हैं और अपने विचारों को व्यक्त करने में भी माहिर होते हैं।

इनकी कुछ कमजोरियां भी होती हैं, जैसे कि अत्यधिक संवेदनशीलता, संदिग्धता या संघर्ष में अधिक विचलित होना। वे कभी-कभी अत्यधिक संवेदनशील हो सकते हैं जो उन्हें अधिक चिंतित बना सकता है।

7. तुला (Libra) राशि के बारे में जानकारी

तुला राशि 23 सितंबर से 22 अक्टूबर तक की जन्मतिथि वालों को बताती है। यह राशि संतुलन, सहयोग, और सामंजस्य का प्रतीक होती है। तुला राशि के लोगों को संबंधों को समानता और सुधार के लिए महत्त्व देने की प्राथमिकता होती है।

इन व्यक्तियों की विचारधारा में विनम्रता, सहयोग, और विचारशीलता दिखाई देती है। वे अक्सर समाधान ढूंढने और विवादों को समाप्त करने में माहिर होते हैं।

तुला राशि के लोगों को सौंदर्य, कला, और समरसता की प्रतिष्ठा का महत्त्व होता है। वे उम्र भर के संबंधों में समानता और सामंजस्य की तलाश में रहते हैं। यह राशि ज्योतिष में तुला का सूचक मानी जाती है, जो संतुलन और समरसता को प्रतिनिधित्त्व करती है।

8. वृश्चिक (Scorpio) राशि के बारे में जानकारी

वृश्चिक राशि (Scorpio) ज्योतिष में आती है और इसे नवम्बर 23 से दिसम्बर 21 तक का समय माना जाता है। यह राशि जल तत्व से जुड़ी होती है, जो इसे अपने अनुसार पारित करता है। वृश्चिक राशि के जातक प्रेम, जागरूकता, संवेगी और गहरे भावों वाले होते हैं। वे अकेलापन को पसंद करते हैं लेकिन अपने पारिवारिक संबंधों में भी बहुत बंधे रहते हैं। उनका जीवन अक्सर उतार-चढ़ावों से भरा होता है, जो उन्हें मजबूती से निपटने की क्षमता देते हैं।

9. धनु (Sagittarius) राशि के बारे में जानकारी

धनु राशि (Sagittarius) ज्योतिष में आती है और इसे नवम्बर 22 से दिसम्बर 21 तक का समय माना जाता है। धनु राशि के जातकों को स्वतंत्रता, जिज्ञासा और स्वाधीनता की भावना होती है। वे साहसी, उत्साही और संवादशील होते हैं। अक्सर उन्हें यात्रा, शिक्षा और नए अनुभवों का शौक होता है। धनु राशि के लोग अपनी खुशहाली के लिए समाज में सक्रिय भूमिका निभाते हैं और जीवन में उच्च मूल्यों और सत्य की प्राथमिकता देते हैं।

10. मकर (Capricorn) राशि के बारे में जानकारी

मकर राशि (Capricorn) ज्योतिष में आती है और इसे दिसम्बर 22 से जनवरी 19 तक का समय माना जाता है। यह पृथ्वी तत्व से जुड़ी होती है जो इसके संवेगी और सांवेगी गुणों को प्रकट करता है। मकर राशि के लोग उत्तम संगठनक्षमता, दृढ़ इरादे और समर्पितता के लिए जाने जाते हैं। वे अपने लक्ष्यों को पाने के लिए मेहनती और संघर्षशील रहते हैं। इन्हें सामाजिक प्रतिष्ठा और सुरक्षा की बड़ी प्राथमिकता होती है। वे अक्सर अपने कर्तव्यों का पालन करते हैं और अपने परिवार और करियर को संतुष्टि से संतुष्ट करने का प्रयास करते हैं।

11. कुंभ (Aquarius) के बारे में जानकारी

कुंभ राशि (Aquarius) ज्योतिष में आती है और इसे जनवरी 20 से फरवरी 18 तक का समय माना जाता है। यह वायु तत्व से जुड़ी होती है, जो इसे संवेदनशीलता और सोचने की क्षमता से युक्त करता है। कुंभ राशि के जातक अक्सर नवाचारों, विचारों और समाज के लिए नए और अलग प्रकार के विचारों में रूचि रखते हैं। वे अपने विचारों को दूसरों के साथ साझा करने में महिर होते हैं और समाज के लिए सेवानिष्ठा दिखाते हैं। ये व्यक्ति आमतौर पर अपनी अलगाववादी सोच और मानवता के प्रति उनकी जागरूकता के लिए जाने जाते हैं।

12. मीन (Pisces) के बारे में जानकारी

मीन राशि (Pisces) ज्योतिष में आती है और इसे फरवरी 19 से मार्च 20 तक का समय माना जाता है। यह जल तत्व से जुड़ी होती है, जो इसे संवेदनशीलता, संवादशीलता और संवेगी बनाता है। मीन राशि के लोग अक्सर सहानुभूति, सहयोग, और समर्थन में अपनी विशेषता दिखाते हैं। ये भावुक और कल्पनाशील होते हैं और अक्सर कल्पनाओं में खोए रहते हैं। वे अपने भावनाओं को बयान करने में माहिर होते हैं और अपने समाजिक संबंधों में गहराई से जुड़े रहते हैं। ये लोग अक्सर अपने सपनों और कल्पनाओं को अपनी जिंदगी में प्राथमिकता देते हैं।

अंतिम पैराग्राफ

उक्त लेख में हमने आपको सभी 12 राशियां के नाम, अक्षर और उनके चिन्ह व उनका महत्त्व के बारे में अच्छे से समझाने का प्रयास किया है। कौन सी राशी का क्या महत्व है आपकों पता चल गया होगा अगर फिर भी आपके मन में कोई 12 राशी (12 राशि) से संबंधित प्रश्न हो तो हमें बताए ताकि आपको और अच्छे से समझाने का प्रयास करेंगे।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...