Database क्या है कैसे काम करता है? What is Database in Hindi

Date:

इस लेख में Database क्या है? कैसे काम करता है (What is database? How does What is Database work?) के बारे में जानकारी दी गई है ताकि आपको Database Kya Hota Hai Aur Kaise Kam Karta Hai की सही जानकारी समझ में आए।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

दोस्तों टेक्नोलॉजी हो या इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी हो हर जगह आपको डाटा ही डाटा सुनने को मिलेगा हालांकि आप सभी Data से परिचित होंगे। लेकिन कभी आपने ये सोचा है की आप चाहे हॉस्पिटल जाएं या रेलवे स्टेशन जाएं हर तरफ आपकी इंफॉर्मेशन को कलेक्ट कर लिया जाता है और उसे सेव कर लिया जाता है। लेकिन आपके दिमाग में यह भी सवाल आ रहा होगा कि इतने सारे लोगों का नाम, एड्रेस, मोबाइल नंबर और बाकी सब इंफॉर्मेशन कैसे एक जगह कलेक्ट हो जाती है और वो जगह है इंटरनेट,तो यह संभव है डेटाबेस की मदद से। इंटरनेट खोलते ही आपका सारा का सारा डाटा या इनफॉरमेशन एक सेकंड में पता चल जाता है और आप यह सोचकर हैरान हो जाते हैं। डेटाबेस के बारे में जानने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि डाटा क्या होता है?

Data क्या होता है?

Data एक प्रकार का information है जिसे हम इकट्ठा करते हैं और चीजों के बारे में जानने के लिए उपयोग करते हैं। यह number,word, figure या कुछ और हो सकता है जो हमें किसी चीज को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है।  उदाहरण के लिए जब हम गिनते हैं कि एक टोकरी में कितने सेब हैं, तो वह डेटा ही है।

डेटा का एक और उदाहरण customer की जानकारी जैसे नाम, पता, फ़ोन नंबर और खरीदारी रिकॉर्ड हो सकता है। इस डेटा को एक Database में stored किया जा सकता है और target marketing action बनाने, customer behaviour को ट्रैक करने और overall customer अनुभव को बेहतर बनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है। Database के बिना इस डेटा को manage करना और analyisis करना मुश्किल होगा। आइए जानते गई डेटाबेस इस मुस्किल को केसे सॉल्व करता है।

Database क्या होता है?

डेटाबेस organized data (data को books की तरह सजा के रखना) या का एक कलेक्शन या एक पैकेट है जिसे कंप्यूटर सिस्टम पर यूनिफाइड और मैनेज किया जाता है। यह जानकारी collect करने और manage करने का एक well structured तरीका है जिसे authorized यूजर्स द्वारा access किया जा सकता है। यदि हम आसान भाषा में समझे तो डेटाबेस information या data की library है। जहां पर information को इकट्ठा करते है जैसे तिजोरी में पैसा रखते है ठीक उसी प्रकार data या information को database में well ordered में store किया जाता है।

अगर आप इसे टेक्निकली समझना चाहते है तो इसे एक digital filing cabinet की तरह समझें जहां information row और column में collected होती है, जिससे search, sorted करना और analysis करना आसान हो जाता है।  डेटाबेस का उपयोग कई अलग अलग एप्लीकेशन में किया जाता है,simple lists से लेकर complex system तक जो बड़ी मात्रा में डेटा का मैनेज करते हैं। आपने MS Excel देखा होगा जहां पर आप बहुत सारे row और column को देखते हैं और उसमें कंपनियां या अन्य लोगों के नाम,पता,फोन नंबर और ईमेल एड्रेस आदि स्टोर हुए होते हैं। आप MS Excel को एक डेटाबेस की तरह समझ सकते हैं।

उदाहरण के लिए,कोई कंपनी customer की जानकारी जैसे नाम, पते और खरीद रिकॉर्ड को stored करने के लिए डेटाबेस का उपयोग कर सकती है। फिर डेटाबेस का उपयोग reports तैयार करने, trends को ट्रैक करने और listed commercial निर्णय लेने के लिए किया जा सकता है।

डेटाबेस अलग अलग software program का उपयोग करके बनाया जा सकता है और अलग अलग interface के माध्यम से उन तक पहुंचा जा सकता है। कुछ फेमस database management system (DBMS) में MySQL, Oracle, Microsoft SQL Server और MongoDB आदि शामिल हैं। ये सभी डाटा को access और manipulate करने के लिए यूज किया जाता है।

Related – Technology Ke Fayde Aur Nuksan जानिए

Database का उपयोग कहां किया जाता है?

डेटाबेस का उपयोग अलग अलग इंडस्ट्री और क्षेत्रों में किया जाता है जिनमें शामिल हैं:

1. Health Care: Database का उपयोग जितने भी मरीज होते है उनके रिकॉर्ड, मेडिकल हिस्ट्री और क्लिनिकल ​​रिजल्ट को stored करने के लिए किया जाता है। जी हां दोस्तो आपकी सभी इनफॉरमेशन इसी तरह stored होती है। इससे जो मेडिकल सर्विस देते है उनको रोगी की जानकारी बहुत जल्दी और सटीक रूप से प्राप्त करने में मदद मिलती है, जिससे रोगी के लिए बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

2.Finance: Database का उपयोग finanace data, जैसे transactions record, account balance और को stored करने के लिए किया जाता है। जब आप बैंक में जाकर ये सभी जानकारी हासिल करते है तो ये जानकारी डेटाबेस के मदद से आपको तुरंत प्रोवाइड कराई जाती है।

3.Education: डेटाबेस का उपयोग स्टूडेंट्स का रिकॉर्ड, ग्रेड और प्रेजेंट डेटा को stored करने के लिए किया जाता है। इससे एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन को स्टूडेंट्स की ग्रोथ और प्रदर्शन को ट्रैक करने आदि जैसे प्रशासनिक कार्य का मैनेजमेंट करने में मदद मिलती है।

 4.Government: डेटाबेस का उपयोग census data,tax record और legal documents सहित government work से संबंधित डिटेल्ड जानकारी को stored करने के लिए किया जाता है। इससे सरकारी एजेंसियों को अपने कार्य को कुशलतापूर्वक मैनेज करने और सिटीजन को सर्विस प्रोवाइड करने में मदद मिलती है।

5.E Commerce: जितनी भी e commerce कंपनी है वो सभी डेटाबेस का यूज करती है। Database का उपयोग product information,customer order और payment detail stored करने के लिए किया जाता है। इससे ऑनलाइन रिटेलर्स को काफी मदद मिलती है और वह अपने कस्टमर्स को संतुस्टपूर्वक जवाब देते है। 

6. Marketing: database का उपयोग customer की जानकारी, purchase history आदि चीजों को stored करने के लिए किया जाता है। 

7.Social media: Database का उपयोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यूजर्स प्रोफाइल, पोस्ट और इंटरैक्शन को stored करने के लिए किया जाता है। इससे सोशल मीडिया कंपनियों (whatsapp,Facebook,Instagram,Twitter आदि) को यूजर्स के लिए personalized experience के लिए प्रदान करने और अपनी सर्विस को बेहतर बनाने के लिए यूजर्स के behaviour का analysis करने में मदद मिलती है।

कुल मिलाकर ज्यादा से ज्यादा मात्रा में डेटा को कुशलतापूर्वक और प्रभावी ढंग से मैनेज करने के लिए डेटाबेस एक आवश्यक डिवाइस है।  

Related – Router क्या होता है, कैसे काम करता है और इसके प्रकार

Database कितने प्रकार के होते है?

डेटाबेस कई प्रकार के होते हैं और सबके अपने फायदे और नुकसान होते हैं। यहां कुछ सबसे सामान्य प्रकार के डेटाबेस के बारे मे आपको जानकारी देंगे।

  1. Relational Database: ये सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले प्रकार के डेटाबेस में से एक है। वे डेटा को टेबल्स में stored करते है जो एक सामान्य क्षेत्र के माध्यम से एक दूसरे से संबंधित होते हैं। रिलेशनल डेटाबेस अत्यधिक structured होते है।
  2. NoSQL डेटाबेस: ये डेटाबेस रिलेशनल डेटाबेस की तरह टेबल्स और रिलेशन का उपयोग नहीं करते है। इसके बजाय वे document-oriented, key-value या graph based model का उपयोग करते हैं। NoSQL बड़ी मात्रा में unstructured data( जिस डाटा का structure रैंडम हो) को संभाल सकते हैं।
  3. Object Oriented डेटाबेस: इस तरह का डाटाबेस data को object के रूप में stored करते हैं,जिसमें डेटा और बिहेवियर दोनों शामिल हो सकते हैं। इस तरह के डाटाबेस उन हार्ड एप्लीकेशंस के लिए उपयोगी होते हैं जिनके लिए कॉम्प्लेक्स डाटा स्ट्रक्चर्स की जरूरत होती है।
  4. Hierarchical database: यह डेटाबेस डेटा को एक पेड़ जैसी स्ट्रक्चर में ऑर्गनाइज्ड करते हैं, जिसमें प्रत्येक नोड में एक पेरेंट्स और मल्टीपल चिल्ड्रन होते हैं। अर्थात यह पेड़ के बिल्कुल ब्रांचेस  जैसे होते हैं। यह डाटाबेस एक आर्गेनाइजेशन की तरह एक निश्चित और पहले से अनुमानित structure के साथ डेटा stored करने के लिए उपयोगी होते हैं।
  5. Network database: ये डेटाबेस नेटवर्क के structure में डेटा को स्टोर करते हैं और हर एक रिकॉर्ड में बहुत सारे पेरेंट्स और चिल्ड्रन के रिकॉर्ड होते हैं यहां पैरंट्स और चिल्ड्रन का तात्पर्य अपने माता पिता से नही है बल्कि पेरेंट्स एक Database है और इस database के अंदर और भी database है जो children है। 
  6. Cloud database: ये डेटाबेस cloud platform पर होस्ट किए जाते हैं और इन्हें इंटरनेट कनेक्शन के साथ कहीं से भी access किया जा सकता है। क्लाउड डेटाबेस अत्यधिक यूज किए जाने वाले होते हैं और बड़ी मात्रा में डेटा को हैंडल कर सकते हैं।

प्रत्येक प्रकार के डेटाबेस की अपनी ताकत और कमजोरियाँ होती हैं और डेटाबेस का सिलेक्शन एप्लिकेशन की स्पेसिफिक आवश्यकताओं पर निर्भर करेगा।

Related – Output Device Kya Hai? इसके प्रकार जानिए – Output Device in Hindi

Database काम कैसे करता है?

1- डेटा को टेबल्स में maintain किया जाता है और प्रत्येक टेबल एक स्पेसिफिक प्रकार के डेटा का representation करती है।

 2. Tables सामान्य फील्ड के माध्यम से एक साथ जुड़ी हुई हैं,जिससे complex question को परमिशन मिलती है जो कई टेबल्स से स्पेसिफिक डेटा निकाल सकते हैं।

 3. यूजर्स डेटा को फिर से प्राप्त करने या हेरफेर करने के लिए SQL जैसी query language  का इस्तेमाल करके डेटाबेस के साथ इंटरैक्ट करते हैं।

 4. डेटाबेस system क्वेरी execute करता है और requested डेटा रिटर्न करता है।

5. बड़ी मात्रा में डेटा को stored और मैनेज करने का एक अच्छा और कुशल तरीका प्रदान करके डेटाबेस modern applications में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Related – System Software क्या होता है, काम कैसे करता है और इसके प्रकार

Database के elements क्या क्या होते है?

जिस तरह से हमारे घर में किचन बाथरूम बेडरूम बरामदा आदि चीज रहने और सामान रखने के लिए होती हैं ठीक उसी प्रकार डाटाबेस में डाटा को संभालने के लिए उसके एलिमेंट्स होते हैं जो कि इस प्रकार, 

1.Tables: डेटाबेस डेटा को टेबल्स में व्यवस्थित करते हैं, जो row और column से बने होते हैं।

 2.Fields: Table में प्रत्येक कॉलम एक स्पीक्टिक प्रकार के डेटा को represent करता है, जिसे हम field के रूप में जानते है।

 3.Records: Table में प्रत्येक लाइन डेटा के एक unique set को represent करती है, जिसे रिकॉर्ड के रूप में जाना जाता है।

 4. Keys: डेटाबेस टेबल में प्रत्येक रिकॉर्ड को अलग रूप से पहचानने के लिए keys का उपयोग करते हैं।  

 5. Relations:Tables को साधारण क्षेत्रों के माध्यम से एक साथ जोड़ा जा सकता है।

 6. Index: डेटाबेस एक खोजने योग्य डेटा स्ट्रक्चर बनाकर questions को तेज करने के लिए इंडेक्स का उपयोग करते हैं जो टेबल्स में स्पेसिफिक रिकॉर्ड को indicate करता है।

 7. Constraints: डेटाबेस टेबल्स में entered किए गए डेटा पर रूल्स को लागू करके data integrity को सुनिश्चित करने के लिए constraints का उपयोग करते हैं।

 8. Views: Views एक वर्चुअल टेबल्स हैं जो डेटाबेस में एक या अधिक टेबल्स से बनाई जाती हैं

 9. Trigger: डेटाबेस मुख्य घटनाओं के घटित होने पर कुछ एक्शन को automatically execute करने के लिए ट्रिगर का उपयोग करते हैं,जैसे किसी टेबल में रिकॉर्ड डालना या अपडेट करना। 

Related – Robot Kya Hai Aur Kaise Kam Karta Hai??

Database के कुछ उदाहरण

1.रिटेलर्स के लिए inventory management system.

2. किसी कंपनी के लिए human resource management system.

3.पब्लिक लाइब्रेरीज के लिए Library Cataloging System.

4.एक फाइनेंस इंस्टिट्यूट के लिए ऑनलाइन बैंकिंग सिस्टम.

5. स्वास्थ्य देखभाल सुविधा के लिए इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड सिस्टम.

6. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का यूजर्स डेटा मैनेजमेंट सिस्टम.

7.ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफ़ॉर्म के प्रोडक्ट लिस्ट और ऑर्डर मैनेजमेंट सिस्टम.

8. एक एयरलाइन कंपनी के लिए flight booking system.

9. ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म के Restaurant and Menu Management System

10. Public service के लिए सरकार का सिटीजन डेटाबेस।

उपर्युक्त सभी डेटाबेस के उदाहरण है जो किसी न किसी फील्ड में अलग-अलग रूप में उपयोग किए जाते हैं।

Related – StarLink internet क्या है? भारत में कब आएगा। StarLink Internet in Hindi

DBMS क्या होता है

अभी तक आपको यह पता चल गया होगा कि डाटा को डेटाबेस में स्टोर किया जाता है और उसे जब चाहे एक्सेस किया जा सकता है लेकिन क्या आपको यह पता है कि डेटाबेस को कौन हैंडल करता है। इसका उत्तर है DBMS जी हां दोस्तों Database management system (DBMS) एक सॉफ्टवेयर system है जो users को डेटाबेस create, manage करने और access करने की permission देता है। यह विशाल मात्रा में डेटा को कुशलतापूर्वक और सुरक्षित रूप से stored करने, maintained करने और retrieved करने का एक method provide करता है। एक DBMS में डेटाबेस structures को create और modified करने, Data input करने,query the database और रिपोर्ट तैयार करने के डिवाइस शामिल होते हैं। इसमें sensitive data की सुरक्षा के लिए security facilities भी शामिल हैं और यह सुनिश्चित किया जाता है कि केवल authorized users ही उस तक पहुँच सकें। DBMS का एक ही लक्ष्य होता है वो है डेटा को मैनेज करने का एक बेहेतरीन तरीका प्रदान करना है,ताकि group सटीक जानकारी के आधार पर listed decision ले सकें।

Conclusion –

हम डेटाबेस के बारे में तमाम जानकारी प्राप्त करके यह निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि डेटाबेस बिजनेस और ऑर्गेनाइजेशन के लिए डेटा को managed and organized करने में important role निभाते हैं। सही डेटाबेस को सलेक्ट करके, कंपनियां या ऑर्गेनाइजेशन अपनी डेटा मैनेजमेंट प्रोसेस को customized कर सकते हैं और ओवरऑल performance और efficiency में सुधार कर सकते हैं। जिसकी वजह से कोई भी कंपनी अपने बिजनेस को आगे तक ले जा सकते।

दोस्तों हमें लगता है कि हिंदी में इंडिया ब्लॉग के किस आर्टिकल से आपको डेटाबेस के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गई होगी। अगर आपके मन में डेटाबेस क्या है कैसे काम करता है से संबंधित कोई प्रश्न हो तो हमें कमेंट कर सकते हैं, आपको कोशिश करेंगे और अच्छे से समझाने की धन्यवाद।

FAQ,s

डेटाबेस का क्या अर्थ है?

डेटाबेस organized data (data को books की तरह सजा के रखना) या का एक कलेक्शन या एक पैकेट है जिसे कंप्यूटर सिस्टम पर यूनिफाइड और मैनेज किया जाता है। यह जानकारी collect करने और manage करने का एक well structured तरीका है जिसे authorized यूजर्स द्वारा access किया जा सकता है। यदि हम आसान भाषा में समझे तो डेटाबेस information या data की library है। जहां पर information को इकट्ठा करते है जैसे तिजोरी में पैसा रखते है ठीक उसी प्रकार data या information को database में well ordered में store किया जाता है।

डेटाबेस क्या है और इसके प्रकार?

डेटाबेस क्या है – डेटाबेस organized data (data को books की तरह सजा के रखना) या का एक कलेक्शन या एक पैकेट है जिसे कंप्यूटर सिस्टम पर यूनिफाइड और मैनेज किया जाता है। यह जानकारी collect करने और manage करने का एक well structured तरीका है जिसे authorized यूजर्स द्वारा access किया जा सकता है। यदि हम आसान भाषा में समझे तो डेटाबेस information या data की library है। जहां पर information को इकट्ठा करते है जैसे तिजोरी में पैसा रखते है ठीक उसी प्रकार data या information को database में well ordered में store किया जाता है।

डाटाबेस के प्रकार –

Relational Database: ये सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले प्रकार के डेटाबेस में से एक है। वे डेटा को टेबल्स में stored करते है जो एक सामान्य क्षेत्र के माध्यम से एक दूसरे से संबंधित होते हैं। रिलेशनल डेटाबेस अत्यधिक structured होते है।
NoSQL डेटाबेस: ये डेटाबेस रिलेशनल डेटाबेस की तरह टेबल्स और रिलेशन का उपयोग नहीं करते है। इसके बजाय वे document-oriented, key-value या graph based model का उपयोग करते हैं। NoSQL बड़ी मात्रा में unstructured data( जिस डाटा का structure रैंडम हो) को संभाल सकते हैं।
Object Oriented डेटाबेस: इस तरह का डाटाबेस data को object के रूप में stored करते हैं,जिसमें डेटा और बिहेवियर दोनों शामिल हो सकते हैं। इस तरह के डाटाबेस उन हार्ड एप्लीकेशंस के लिए उपयोगी होते हैं जिनके लिए कॉम्प्लेक्स डाटा स्ट्रक्चर्स की जरूरत होती है।
Hierarchical database: यह डेटाबेस डेटा को एक पेड़ जैसी स्ट्रक्चर में ऑर्गनाइज्ड करते हैं, जिसमें प्रत्येक नोड में एक पेरेंट्स और मल्टीपल चिल्ड्रन होते हैं। अर्थात यह पेड़ के बिल्कुल ब्रांचेस  जैसे होते हैं। यह डाटाबेस एक आर्गेनाइजेशन की तरह एक निश्चित और पहले से अनुमानित structure के साथ डेटा stored करने के लिए उपयोगी होते हैं।
Network database: ये डेटाबेस नेटवर्क के structure में डेटा को स्टोर करते हैं और हर एक रिकॉर्ड में बहुत सारे पेरेंट्स और चिल्ड्रन के रिकॉर्ड होते हैं यहां पैरंट्स और चिल्ड्रन का तात्पर्य अपने माता पिता से नही है बल्कि पेरेंट्स एक Database है और इस database के अंदर और भी database है जो children है। 
Cloud database: ये डेटाबेस cloud platform पर होस्ट किए जाते हैं और इन्हें इंटरनेट कनेक्शन के साथ कहीं से भी access किया जा सकता है। क्लाउड डेटाबेस अत्यधिक यूज किए जाने वाले होते हैं और बड़ी मात्रा में डेटा को हैंडल कर सकते हैं।

डेटाबेस और उदाहरण क्या है?

1.रिटेलर्स के लिए inventory management system.
2. किसी कंपनी के लिए human resource management system.
3.पब्लिक लाइब्रेरीज के लिए Library Cataloging System.
4.एक फाइनेंस इंस्टिट्यूट के लिए ऑनलाइन बैंकिंग सिस्टम.
5. स्वास्थ्य देखभाल सुविधा के लिए इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड सिस्टम.
6. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का यूजर्स डेटा मैनेजमेंट सिस्टम.
7.ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफ़ॉर्म के प्रोडक्ट लिस्ट और ऑर्डर मैनेजमेंट सिस्टम.
8. एक एयरलाइन कंपनी के लिए flight booking system.
9. ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म के Restaurant and Menu Management System
10. Public service के लिए सरकार का सिटीजन डेटाबेस।

डेटाबेस कैसे काम करता है?

1- डेटा को टेबल्स में maintain किया जाता है और प्रत्येक टेबल एक स्पेसिफिक प्रकार के डेटा का representation करती है।
 2. Tables सामान्य फील्ड के माध्यम से एक साथ जुड़ी हुई हैं,जिससे complex question को परमिशन मिलती है जो कई टेबल्स से स्पेसिफिक डेटा निकाल सकते हैं।
 3. यूजर्स डेटा को फिर से प्राप्त करने या हेरफेर करने के लिए SQL जैसी query language  का इस्तेमाल करके डेटाबेस के साथ इंटरैक्ट करते हैं।
 4. डेटाबेस system क्वेरी execute करता है और requested डेटा रिटर्न करता है।
5. बड़ी मात्रा में डेटा को stored और मैनेज करने का एक अच्छा और कुशल तरीका प्रदान करके डेटाबेस modern applications में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...