Router क्या होता है, कैसे काम करता है और इसके प्रकार

Date:

इस आर्टिकल में Router क्या होता, कैसे काम करता है और इसके प्रकार कितने होते है/Router Kya Hota Hai, Kaise Kam Karta Hai, Router Kitne Prakar Ke Hote Hai (What is a router, how does it work) के बारे में पूरी इनफार्मेशन बताई गई हैं।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

आज के जमाने वाले टेक्नोलॉजी 5g की स्पीड जैसे चल रहे है। जिससे जुड़े लोगो को किसी भी कार्य करने के लिए देरी न हो ऐसा सभी चाहते है। बहुत से लोगो के पास इंटरनेट की सुविधा होती है। इंटरनेट सभी कोई चाहता है की बहुत तेज चले। जरूरत को देखते हुए 4G भी लोगो के लिए धीमे होगया है। और लोग 5G की तरफ जा रहे है। इंटरनेट की स्पीड हो या डाटा का flow करवाना हो सभी यह चाहते है की ये बिना ट्रैफिक में रुके और तेज ट्रांसमिट हो। ऐसे ही एक डिवाइस के बारे में बात करने जा रहे जिसका नाम राउटर है। Router के बारे में बहुत कम ही लोग जानते होंगे आईए आज हम आपको बताएंगे router के root के बारे में।

Router क्या होता है। What is Router in Hindi

राउटर एक networking device है जो कंप्यूटर नेटवर्क के बीच data packets को फोरवर्डेड यानी की एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क की ओर आगे ले जाता है। एक या अधिक packet switched network या subnetwork को राउटर का उपयोग करके जोड़ा जा सकता है। अर्थात यदि हम बहुत से नेटवर्क को कनेक्ट करते है तो हमे राउटर का सहारा लेना पड़ता है। Data packet को उनके इच्छित IP Address पर भेजकर, यह अलग अलग नेटवर्क के बीच traffic का मैनेजमेंट करता है और कई डिवाइस को इंटरनेट कनेक्शन शेयर करने की अनुमति देता है।

यदि और भी आसान भाषा में जानना है तो आइए इसे एक बहुत ही सामान्य उदाहरण से समझते हैं, मान लीजिए कि आप अपने web browser में www.google.com सर्च करते हैं तो यह एक request होगा जो आपके सिस्टम से Google के server पर उस web page की सर्विस के लिए भेजा जाएगा,अब आपकी request जो  यह packets की एक धारा के अलावा और कुछ नहीं है जो सीधे Google के server पर नहीं जाते हैं, वे networking devices की एक सीरीज से गुजरते हैं जिन्हें राउटर के रूप में जाना जाता है जो इन packets को एक्सेप्ट करता है और उन्हें सही path पर फॉरवर्ड करता है और इस प्रकार यह टारगेट सर्वर तक पहुंचता है। एक राउटर में कई interface होते हैं जिनके द्वारा यह कई होस्ट सिस्टम से कनेक्ट हो सकता है।

Related – System Software क्या होता है, काम कैसे करता है और इसके प्रकार

Router के बारे में जानकारी

राउटर एक networking device है जो कई डिवाइसों को internet से जोड़ता है और उन्हें एक दूसरे के साथ communicate करने में योग्य बनाता है। यह एक central hub के रूप में कार्य करता है जो डिवाइसेज के बीच data packet को instruct करता है, जिससे उन्हें इंटरनेट तक पहुंचने और जानकारी शेयर करने की अनुमति मिलती है। 

Router के उदाहरण और कंपनी का नाम

1. Cisco ISR 4000 Series Router

2. NETGEAR Nighthawk X10 AD7200 Router

3. TP-Link Archer C5400X Router

4. ASUS RT-AC88U Router

5. Linksys WRT3200ACM Router

6. Google Nest Wifi Router

7. Ubiquiti Networks UniFi Dream Machine Router

8. D-Link DIR-890L Router

9. Synology RT2600ac Router

10. MikroTik RouterBOARD RB4011iGS+RM Router

कुछ फेमस कंपनियाँ हैं जो राउटर को विकसित करती हैं जैसे Cisco, 3com, HP, Juniper, D-Link,Norrell etc।

Related – Robot Kya Hai Aur Kaise Kam Karta Hai??

Router की विशेषताएं क्या है?

1. Wireless Connectivity: आज के समय ज्यादातर राउटर वायरलेस कनेक्टिविटी ऑप्शन के साथ मार्केट में आते हैं, जिससे डिवाइस cable या wire की आवश्यकता के बिना इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते हैं। इसलिए इसको वायरलेस राउटर कहा जाता है।

 2.Dual Band Support: कुछ राउटर होते सिंगल frequency band पर कार्य करते है वही दूरी तरफ कुछ राउटर 2.4GHz और 5GHz frequency bands दोनों का समर्थन करते हैं, जिससे यूजर्स अपनी अपनी आवश्यकताओं के अनुसार सबसे अच्छा विकल्प चुन सकते हैं।

 3.Guest Network: इसमें राउटर अलग गेस्ट नेटवर्क बना सकते हैं जो विजिटर को Main Network तक पहुंच दिए बिना इंटरनेट तक पहुंचने की अनुमति देते हैं। यह राउटर की खास विशेषता होती है।

 4.Parental control: कुछ websites या material के प्रकारों तक पहुंच को रोकने के लिए राउटर स्थापित किए जा सकते हैं,जिससे वे बच्चों वाले परिवारों के लिए आदर्श बन जाएंगे। अर्थात यह फीचर्स फोन और कंप्यूटर में मौजूद होता जिसको आप on करके अपने बच्चे की अलग गतिविधियों को रोक सकते है।

 5.Quality of service  (QoS): QoS यूजर्स को नेचुरल फीलिंग प्रदान करने के लिए कुछ प्रकार के traffic, जैसे video streaming या online gaming, को दूसरों की तुलना में priority देने की अनुमति देता है। यह विशेषता आपको ऑनलाइन गेम खेलने में एक नेचुरल और अच्छी क्वालिटी देता है।

 6.VPN support: कुछ राउटर VPN यानी virtual private network कनेक्शन का समर्थन करते हैं अर्थात राउटर इससे आसानी से चल सकता है, जो internet access करते समय security की एक एक्स्ट्रा लेयर प्रदान करते हैं। जिससे आपकी डिवाइस की ping maintain बनी रहती है।

 7.USB Port : कुछ राउटर USB port के साथ मौजूद होते हैं जो यूजर्स को external hard drive या printer को नेटवर्क से कनेक्ट करने की अनुमति देते हैं।

 8.Remote Management : कई राउटर्स को web interface या mobile app के माध्यम से remote facility से मैनेज किया जा सकता है, जिससे यूजर्स कहीं से भी अपने नेटवर्क की निगरानी और कंट्रोल कर सकते हैं।

Related – Robot Kya Hai Aur Kaise Kam Karta Hai??

Router किनते प्रकार के होते है?

राउटर अलग अलग प्रकारों में आते हैं, जिनमें wire वाले और wireless मॉडल शामिल हैं।  हम wire वाले राउटर device को कनेक्ट करने के लिए Ethernet cable का उपयोग करते हैं, जबकि wireless राउटर device को wireless तरीके से कनेक्ट करने की अनुमति देने के लिए wi-fi तकनीक का उपयोग करते हैं। कुछ राउटर wired और wireless दोनों कनेक्शनों का भी समर्थन करते हैं।

  1. Wired Router: ये राउटर इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए Ethernet cable का उपयोग करते हैं और तेज और स्थिर internet connectivity प्रदान करते हैं। वे उन घरों या ऑफिसेज के लिए बढ़िया हैं जहां कई devices को इंटरनेट से कनेक्ट करने की आवश्यकता होती है।

 2. Wireless Router: ये राउटर cable की आवश्यकता के बिना devices को इंटरनेट से कनेक्ट करने के लिए wi fi technique का उपयोग करते हैं। यह राउटर कई वायरलेस devices वाले houses या offices के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं।

 3 .Dual Band Router: इस प्रकार के राउटर दो अलग अलग frequencies पर काम करते हैं, जो तेज और अधिक विश्वास योग्य इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करते हैं। ये कई वायरलेस डिवाइसेज वाले घरों या ऑफिसेज के लिए सुविधाजनक हैं जिन्हें स्थिर और तेज कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

 4. Tri Band Router: इसके नाम से ही पता चल रहा है की ये राउटर तीन अलग अलग frequencies पर काम करते हैं, जो तेज इंटरनेट स्पीड और बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करते हैं। ये कई devices वाले बड़े घरों या ऑफिसेज के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं जिनके लिए हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी की आवश्यकता होती है।

 5. Mesh Router: ये राउटर एक मेश(जाल की तरह) network बनाने के लिए कई डिवाइसेज का उपयोग करते हैं, जो एक बड़े क्षेत्र में फ्री internet coverage प्रदान करते हैं। वे बड़े घरों या ऑफिसेज के लिए सही हैं जहां traditional router पर्याप्त कवरेज प्रदान करने के लिए उतने सक्षम नही होते हैं।

 6. VPN Router: ये राउटर अंदर से ही VPN capacity के साथ आते हैं, जो यूजर्स को सुरक्षित और प्राइवेट तौर पर इंटरनेट से जुड़ने की अनुमति देते हैं। ये उन यूजर्स के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं जो अपनी ऑनलाइन गोपनीयता और सुरक्षा की रक्षा करना चाहते हैं।

 7. Gaming Router: ये राउटर ज्यादातर गेमिंग के लिए आते हैं, low latency connections प्रदान करते हैं और अन्य प्रकार के traffic पर gaming traffic को priority देते हैं। वे उन Gamers के लिए बढ़िया हैं जो सुप्रीम  गेमिंग का आनंद लेना चाहते हैं।

8. Modem Router: ये राउटर एक modem और एक router के कार्यों को कनेक्ट हैं, जिससे यूजर्स इंटरनेट से जुड़ सकते हैं और एक ही समय में wi fi नेटवर्क बना सकते हैं। ये उन यूजर्स के लिए अच्छे हैं जो अपने network setup को सरल बनाना चाहते हैं।

9. Travel Router: ये छोटे और portable router उन यात्रियों के लिए design किए गए हैं जिन्हें यात्रा के दौरान इंटरनेट से कनेक्ट होने की जरूरत होती है। वे उन लोगों के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं जो हमेशा यात्रा करते हैं और उन्हें better इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

 10. Cloud Router: ये राउटर यूजर्स को cloud based app या service का उपयोग करके दुनिया में कहीं से भी अपनी राउटर सेटिंग्स तक पहुंचने और अपने नेटवर्क को मैनेज करने की अनुमति देते हैं। वे उन यूजर्स के लिए बिल्कुल यूजेबल हैं जो अपने नेटवर्क को remote form  से मैनेज करना चाहते हैं।

Related – Diesel Engine aur Petrol Engine Mein Antar Kya Hai

Router के प्रमुख कार्य क्या है?

राउटर कई प्रमुख कार्य प्रदान करते हैं, जिनमें शामिल हैं:

  1. Traffic Control: राउटर डिवाइसेज के बीच डेटा पैकेट को निर्देशित करते हैं और यह शो करते हैं कि वे अपने इच्छित गोल तक पहुंचें। यह नेटवर्क पर crowd को रोकने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि डेटा efficiently ब्रॉडकास्ट हो।
  2. Security: राउटर नेटवर्क तक unauthorized पहुंच को रोककर सिक्योरिटी की प्रदान करते हैं। वे हैकर्स और अन्य malicious activity को network तक पहुंचने से रोकने के लिए अलग अलग security protocol,जैसे WPA2 और Firewall security का उपयोग करते हैं।
  3. Network Customization: राउटर यूजर्स को अपनी नेटवर्क सेटिंग्स को customize करने की अनुमति देते हैं, जैसे parental control स्थापित करना या guest network बनाना।  यह फीचर्स यूजर्स को अपने नेटवर्क को उनकी मुख्य आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं के according बनाने में सक्षम बनाता है।
  4. Internet Sharing: राउटर कई devices को एक ही इंटरनेट कनेक्शन शेयर करने की अनुमति देता है। यह उन घरों या ऑफिसेज में विशेष रूप से उपयोगी है जहां कई लोगों को एक साथ इंटरनेट का उपयोग करने की आवश्यकता होती है।

Router कैसे काम करता है?

1.एक डिवाइस जैसे कंप्यूटर या स्मार्टफोन, इंटरनेट तक पहुंचने के लिए पहले request भेजता है।

2.फिर उसके बाद request राउटर को भेजा जाता है,जो इसे रिसीव करता है और इसके टारगेट की जांच करता है। अर्थात request किस्से चीज से जुड़ी हुई यह सर्च करता है।

3.यदि request local नेटवर्क के बाहर किसी वेबसाइट या सेवा के लिए है,तो राउटर एक मॉडेम के माध्यम से Internet Service Provider (ISP) को request भेजता है।

 4.ISP request को उपयुक्त server या website पर रूट करता है और response प्राप्त करता है।

5.रिस्पॉन्स उसी रूट से राउटर को वापस भेजी जाती है।

6.राउटर रिस्पॉन्स प्राप्त करता है और इसे उस डिवाइस पर भेजता है जिसने शुरुआती request किया था।

7.राउटर incoming और outgoing traffic पर सुरक्षा जांच भी करता है, जैसे malicious traffic को फ़िल्टर करना या unauthorized access को रोकना।

8. यूजर्स नेटवर्क traffic को मैनेज करने के लिए राउटर पर नेटवर्क नियम सेट कर सकते हैं, जैसे कि कुछ डिवाइसेज को प्राथमिकता देना या Bandwidth उपयोग को सीमित करना।

9. राउटर सभी कनेक्टेड डिवाइसों के लिए सुविधाजनक और सुरक्षित इंटरनेट कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए नेटवर्क ट्रैफिक की लगातार निगरानी और मैनेजमेंट करता है।

FAQ,s

राउटर कितने प्रकार का होता है?

राउटर कई प्रकार के होते हैं?
1. Wired Router
2. Wireless Router
3. Dual Band Router
4. Tri Band Router
5. Mesh Router
6. VPN Router
7. Gaming Router
8. Modem Router
9. Travel Router
10. Cloud Router

निष्कर्ष –

हम इस निष्कर्ष पर पहुंच गए है की एक राउटर डिवाइसेज को इंटरनेट से जोड़ने और नेटवर्क traffic को मैनेज करने में महत्वपूर्ण रोल निभाता है। यह लोकल नेटवर्क और इंटरनेट के बीच एक entry gate के रूप में कार्य करता है और यह सुनिश्चित करता है कि request ठीक से रूट किए गए हैं और रिस्पॉन्स सुरक्षित रूप से डिस्ट्रीब्यूट की गई हैं। इसके अलावा,राउटर साइबर खतरों से बचाने के लिए Firewall और एक्सेस कंट्रोल जैसी सुरक्षा सुविधाएँ प्रदान करते हैं। कुल मिलाकर राउटर मॉडर्न इंटरनेट कनेक्टिविटी का एक अनिवार्य कंपोनेंट हैं। वे यूजर्स को कई डिवाइसेज को इंटरनेट से कनेक्ट करने, एक दूसरे के साथ communicate करने और उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी नेटवर्क सेटिंग्स को कस्टमाइज्ड करने में योग्य बनाते हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको राउटर क्या होता है राउटर कैसे काम करता है राउटर कितने प्रकार का होता है के बारे में आपको जानकारी समझ में आ गई होगी। अगर आपके मन में फिर भी कोई प्रश्न हो तो आप इस लेख राउटर इन हिंदी आर्टिकल के नीचे कमेंट बॉक्स में हमें अपना प्रश्न भेज सकते हैं ताकि आपको संतुष्ट जनक जवाब दे सके।

keshav Barkule
keshav Barkulehttps://hindimeindia.com
Mera Naam keshav B. Barkule। Mein Hindimeindia.com Blog Ka Owner Hun। Hindi Me india Blog Par Technology, Software, Internet, Computer, Blogging, Earn Money Online Evam Education Se Related Latest Information Dete Hai.

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

How to free make money online – ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं.

ऑनलाइन पैसे कमाने के कई तरीके हैं। यहां कुछ...

Front End Developer – कैसे बने इन 2024.

2024 में फ्रंट एंड डेवलपर कैसे बनें Front End Developer...

Email ID कैसे बनाये.

ईमेल आईडी बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन...

SEO कैसे करे और अपने ब्लॉग की ट्रैफिक बढ़ाये?

एक beginning जो नया नया blogging कर रहा है...